अश्‍लील फिल्‍में देखता था दिल्ली कैंट रेप केस का आरोपित पुजारी, मासूम से करवाता था मालिश

नई दिल्ली
दिल्‍ली के कैंट इलाके में दलित नाबालिग की रेप के बाद हत्‍या के मामले की क्राइम ब्रांच को रिपोर्ट मिल गई है। रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। दिल्‍ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि वाटर कूलर में शॉर्ट सर्किट का कोई संकेत नहीं मिला है तथा कूलर की सफाई भी नहीं की गई थी।
ज्ञात हो कि मुख्य आरोपित राधेश्याम और श्मशान घाट के पुजारी ने जांच टीम को गुमराह करने की कोशिश करते हुए कहा था कि वाटर कूलर में करंट आता था। इसकी रिपेयरिंग के लिए इलेक्ट्रीशियन से भी संपर्क किया गया था।
रिपोर्ट में यह पता चला है कि इस पूरे मामले में आरोपितों ने झूठ बोला था। विशेषज्ञों द्वारा क्राइम सीन को रीक्रिएट करने पर वाटर कूलर में शॉर्ट सर्किट का कोई निशान नहीं मिला। गौरतलब है कि पूछताछ के शुरुआती चरणों में आरोपितों ने पुलिस को बताया था कि पीड़िता की मौत करंट लगने से हुई। है।
सूत्रों की मानें तो चारों आरोपितों के खिलाफ जल्द ही दिल्ली पुलिस चार्जशीट दाखिल करेगी। पुलिस इस महीने के अंत तक चार्जशीट दाखिल कर देगी। सूत्र बताते हैं कि चारों आरोपितों में से किसी को भी क्राइम ब्रांच की SIT ने क्लीनचिट नहीं दी है। जांच टीम के पास बिना पॉलीग्राफ टेस्ट के चारों को चार्जशीट करने के लिए पर्याप्त सबूत हैं।
मुख्य आरोपित राधेश्याम और श्मशान घाट के पुजारी ने एसआईटी टीम को गुमराह करने की कोशिश करते हुए कहा था कि वाटर कूलर से बिजली का झटका लगता था। इसके मरम्मत के लिए एक इलेक्ट्रीशियन से भी संपर्क किया गया था। पुलिस जाँच में मुख्य बने श्मशान घाट के बिजली मिस्त्री ने मुख्य आरोपित द्वारा किए गए इस दावे को खारिज किया है। जांच में यह भी सामने आया कि पुजारी अश्लील फिल्में देखता था और मृतक लड़की से मालिश करवाता था।
बता दें कि श्मशान घाट में वाटर कूलर से ठंडा पानी लेने गयी दलित लड़की की एक अगस्त को संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी।
इसके बाद परिजन ने आरोप लगाया था कि एक पुजारी सहित चार लोगों ने उसके साथ पहले बलात्कार किया और फिर उसे मार दिया। इसके बाद मासूम के अंतिम संस्कार के लिए भी परिजनों पर दबाव बनाया था।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here