अब्दुल क़य्यूम अंसारी के जन्मदिन पर अल्पसंख्यक कांग्रेस ने किया वेबिनार

लखनऊ(शमशाद रज़ा अंसारी)
मोमिन अंसार आंदोलन के जनक और महान स्वतंत्रता सेनानी, बिहार सरकार के पूर्व मन्त्री अब्दुल क़य्यूम अंसारी की 116 वीं जयंती पर अल्पसंख्यक कांग्रेस ने ‘बाबा ए क़ौम की शख्सियत और विरासत’ पर वर्चुअल सेमिनार आयोजित किया।
मुख्य वक्ता पूर्व राज्य सभा सदस्य अली अनवर ने कहा कि अब्दुल क़य्यूम अंसारी ने आज़ादी की जंग में संप्रदायिक शक्तिओं का विरोध किया और आज़ादी के बाद पिछड़े और कमज़ोर तबक़ों के लिए लड़ते रहे। आज भी यही सवाल भारत के सामने खड़े हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ही आज एक मात्र नेता हैं जो संघ परिवार की फिरकपरस्त और गरीब विरोधी नीतियों के खिलाफ़ लड़ रहे हैं। पिछड़े, दलितों, किसानों और अल्पसंख्यक वर्गों पर संघी हमले के खिलाफ़ सिर्फ़ राहुल गांधी ही बोलते हैं।


बिहार के पूर्व ट्रांसपोर्ट मन्त्री शकीलउज़मा अंसारी ने कहा कि पसमांदा समाज को अपनी वोट की ताक़त का इस्तेमाल फासीवादी ताक़तों को हराने के लिए करना है।
अल्पसंख्यक कांग्रेस के प्रदेश चेयरमैन शाहनवाज़ आलम ने कहा कि कांग्रेस की मनमोहन सिंह सरकार ने अब्दुल क़य्यूम अंसारी के सम्मान में डाक टिकट जारी किया था. प्रियंका गांधी जी के निर्देश पर अल्पसंख्यक कांग्रेस ने बाबा ए क़ौम की पुण्यतिथि पर 18 जनवरी को हर ज़िले में 25 बुनकरों और अंसारी समाज के लोगों को सम्मानित किया था और उनके सवालों को चुनावी घोषणा पत्र में शामिल करने के लिए उनके साथ लगातार बैठकें की जा रही हैं।
बिहार अल्पसंख्यक कांग्रेस के प्रदेश चेयरमैन मिन्नत रहमानी ने कहा कि पसमानदा तबक़ों का विकास कांग्रेस के साथ ही संभव रहा है।
प्रोफेशनल कांग्रेस के प्रदेश संयोजक पूर्व आईएएस अनीस अंसारी ने पिछड़े मुसलमानों के अंदर नेतृत्व विकसित करने पर ज़ोर दिया
संचालन अल्पसंख्यक कांग्रेस की प्रदेश महासचिव सबिहा अंसारी ने किया।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here