दिल्ली में ऑक्सीजन की भारी कमी हो रही है, हमें तुरंत ऑक्सीजन मुहैया कराई जाए:अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली, 18 अप्रैल, 2021
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज पीएम को पत्र लिखकर केंद्र सरकार के अस्पतालों में 10 हजार में से 7 हजार बेड्स कोरोना के लिए सुरक्षित करने की मांग की है। सीएम ने पत्र में कहा है दिल्ली में ऑक्सीजन की भारी कमी हो रही है। इसलिए हमें तुरंत ऑक्सीजन मुहैया कराई जाए। उन्होंने अपील की है कि डीआरडीओ 500 आईसीयू बेड बना रहा है, इसे बढ़ा कर 1000 बेड कर दिए जाएं। अभी तक हमें केंद्र से काफी सहयोग मिला है। मुझे उम्मीद है कि उपर्युक्त विषयों पर भी आप हमारी मदद जरूर करेंगे।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से अस्पतालों में होती जा रही बेड्स की किल्लत और ऑक्सीजन कमी को लेकर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री को संबोधित पत्र में कहा है कि दिल्ली में कोरोना की स्थिति बेहद गंभीर हो गई है। कोरोना बेड्स और ऑक्सीजन की भारी कमी है। लगभग सभी आईसीयू बेड्स भर गए हैं। अपने स्तर पर हम सभी तरह के प्रयास कर रहे हैं और इसमे आपकी भी मदद की जरूरत है।
सीएम ने पत्र में आगे कहा है कि दिल्ली में केंद्र सरकार के अस्पतालों में लगभग 10 हजार बेड हैं। अभी तक इनमें से केवल 1800 बेड ही कोरोना के लिए रिजर्व किए गए हैं। दिल्ली में स्थिति की गंभीरता को देखते हुए आपसे विनती है कि कम से कम 7 हजार बेड कोरोना के लिए रिजर्व किए जाएं। दिल्ली में ऑक्सीजन की भी भारी कमी हो रही है। हमें ऑक्सीजन भी तुरंत मुहैया करवाई जाए।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री को जानकारी देते हुए पत्र में कहा है कि इन सबकी जानकारी मैंने कल केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को और आज सुबह केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को भी दे दी है।
सीएम ने पत्र में आगे कहा है कि डीआरडीओ दिल्ली में आईसीयू के 500 बेड बना रहा है। इसके लिए आपका बेहद शुक्रिया है। ये बढ़ाकर 1000 कर दिए जाएंगे, तो बड़ी मेहरबानी होगी।
सीएम ने पत्र में कहा है कि इस महामारी में अभी तक हमें केंद्र सरकार से काफी सहयोग मिला है। मैं उम्मीद करता हूँ कि उपर्युक्त विषयों पर भी आप हमारी मदद जरूर करेंगे।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here