पैगम्बर मोहम्मद का कार्टून बनाकर डेनमार्क हिंसा की नींव रखने वाले कर्ट वेस्टरगार्ड का निधन

शमशाद रज़ा अंसारी
पैगम्बर मोहम्मद का कार्टून बना कर डेनमार्क को हिंसा की आग में झोंक देने वाले वाले कर्ट वेस्टरगार्ड का 86 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। बर्लिंगस्के अख़बार ने रविवार को उनके निधन की सूचना दी। उनके परिवार का कहना है कि वे काफी समय से बीमर थे। कर्ट वेस्टरगार्ड ने 2005 में पैगम्बर मोहम्मद का कार्टून बनाया था। जिसके बाद डेनमार्क में भड़की हिंसा में दर्जनों लोग मारे गये थे तथा लाखों की सम्पप्ति बर्बाद हो गयी थी।
वेस्टरगार्ड 1980 के दशक की शुरुआत में जिलैंड्स-पोस्टेन अख़बार में कार्टून बनाया करते थे। लेकिन इससे उन्हें कोई पहचान नही मिली। सस्ती शोहरत हासिल करने के लिए उन्होंने 2005 में पैगंबर मोहम्मद का एक विवादास्पद कार्टून बनाया। कार्टून बनाने के बाद वही हुआ जो वो चाहते थे। सर्वविदित है कि इस्लाम में पैगम्बर मोहम्मद का रेखाचित्र बनाने की अनुमति नही है। इस्लाम में कहा गया है कि नबी की कोई भी तस्वीर नहीं बनाई जा सकती। न ही बनाई जानी चाहिए और न ही किसी तरह की तस्वीर दिखाई जानी चाहिए। वेस्टरगार्ड जानते थे कि इस कार्टून के बनाने के बाद उन्हें पहचान मिल जायेगी। जो उन्होंने चाहा वही हुआ। उनके इस कैरिकेचर को लेकर मुसलमानों ने आपत्ति जतानी शुरू की। शुरूआत में दो हफ्ते तक कार्टून को लेकर कोई विवाद नहीं हुआ था। जैसे-जैसे मुसलमानों को कार्टून के बारे में पता चलता गया,ऐसे ही विरोध बढ़ता चला गया। जोकि बाद में हिंसा में तब्दील हो गया। फ़रवरी 2006 में कार्टून के विरोध में भड़की हिंसा में दर्जनों लोगों की मौत हो गयी। लाखों की सम्पत्ति को नुक़सान पहुँचाया गया। पूरी दुनिया में डेनमार्क के विरोध में प्रदर्शन हुआ। डेनमार्क को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आलोचना झेलनी पड़ी। डेनमार्क के कई दूतावासों पर हमले हुए।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here