फीस न भरने के कारण नही रुकेगी दसवीं/बारहवीं की प्रयोगात्मक परीक्षा

शमशाद रज़ा अंसारी

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

ग़ाज़ियाबाद

गजियाबाद पेरेंट्स एसोसिएशन के ज्ञापन का संज्ञान लेते हुये जिला विद्यालय निरीक्षक ने जिले के सी.बी.एस.ई / आई.सी.एस.ई बोर्ड से मान्यता प्राप्त स्कूलो को दसवीं और बारहवीं के छात्र / छात्राओ की बोर्ड की प्रयोगात्मक परीक्षा ना रोकने के किये आदेश जारी किया है।
मोदीनगर सहित जिले के निजी स्कूलों द्वारा कोरोना वैश्विक महामारी के कारण आर्थिक तंगी से जूझ रहे असक्षम अभिभावको द्वारा फीस जमा ना कर पाने के कारण बच्चो की बोर्ड की प्रयोगात्मक परीक्षा रोकने की धमकी दी जा रही थी। जिसकी शिकायत अभिभावको द्वारा गाजियाबाद पेरेंट्स एसोसिएशन से की गई। जिसका तत्काल संज्ञान लेते हुये जीपीए द्वारा अपर मुख्य सचिव और जिला विद्यालय निरीक्षक को पत्र लिख कर किसी भी दशा में जिले के निजी स्कूलों द्वारा छात्र/छात्राओ की बोर्ड की प्रयोगात्मक परीक्षा ना रोकने के लिए आदेश जारी करने के लिए लिखा गया। साथ ही उदहारण के तौर पर बताया गया कि अभी कुछ दिन पहले उत्तर प्रदेश में एक पिता के द्वारा फीस जमा ना कर पाने के कारण एक छात्र द्वारा आत्महत्या की जा चुकी है। इस वैश्विक महामारी से अभिभावक और छात्र/छात्रा मानसिक रूप से दबाब में हैं। स्कूलों द्वारा बच्चों की प्रयोगात्मक परीक्षा रोकने से बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ नही किया जा सकता।

जिला विद्यालय निरीक्षक रवि दत्त शर्मा ने जीपीए द्वारा की गई शिकायत की गंभीरता को देखते हुये तत्काल प्रभाव से सकारात्मक रुख अपनाते हुये जिले के सभी सी.बी.एस.ई/आई.सी.एस. ई बोर्ड से मान्यतप्राप्त स्कूलो को किसी भी दशा में छात्र/छात्राओ की दसवीं और बारहवीं के बोर्ड की प्रयोगात्मक परीक्षा ना रोकने का आदेश जारी किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here