बाबा का ढाबा के मालिक कांता प्रसाद ने किया ख़ुदकुशी का प्रयास,अस्पताल में भर्ती

नई दिल्ली
सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद चर्चा में आये बाबा का ढाबा के मालिक कांता प्रसाद ने गुरुवार देर रात सुसाइड का प्रयास किया। उन्हें गम्भीर हालत में दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। फिलहाल वह ख़तरे से बाहर हैं। बताया जा रहा है कि आर्थिक तंगी के कारण उन्होंने आत्महत्या का प्रयास किया है।
मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली के मालवीय नगर में ‘बाबा का ढाबा’ चलाने वाले कांता प्रसाद ने गुरुवार रात्रि को पहले तो खूब शराब पी,फिर उसके बाद नींद की गोलियां खा लीं।
इस बारे में पुलिस का कहना है कि बाबा की सुसाइड की कोशिश की वजह अभी साफ नहीं है। मामले की जांच की जा रही है।  डीसीपी साउथ अतुल कुमार का कहना है कि कांता प्रसाद को अचेत अवस्था में अस्पताल लाया गया।

कांता प्रसाद की पत्नी बादामी देवी ने बताया कि जहां उन्होंने रेस्टोरेंट खोला था उस जगह का किराया 1 लाख रुपये था. वहीं आमनदनी सिर्फ 30 हज़ार रुपये ही थी. इसीलिए बाबा कुछ समय से परेशान चल रहे थे और उन्होंने खुदकुशी की कोशिश की।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App


पिछले साल यूट्यूबर गौरव वासन ने बाबा का एक वीडियो बनाकर शेयर किया था, जिसमें कांता प्रसाद ने रोते हुए बताया था कि उनके दो बेटे और एक बेटी है, लेकिन कोई मदद नहीं करता है। वह और उनकी पत्नी दिन भर ढाबे पर खाना बनाकर बेचते हैं। यह वीडियो सोशल मीडिया पर इतना वायरल हुआ कि रातों-रात बाबा की किस्मत बदल गई। बड़ी संख्या में लोग उनकी मदद के लिए सामने आए और ढाबे पर लंबी कतार लग गई। लोग उनके साथ एक फोटो खिंचाने के लिए उतावले होने लगे थे। इसके बाद बाबा को लाखों रूपये का चंदा मिला। जिससे बीते साल दिसंबर में कांता प्रसाद ने दिल्ली के मालवीय नगर में एक नए रेस्टोरेंट की शुरुआत की थी। उन्होंने इसका नाम भी ‘बाबा का ढाबा’ रखा था और यह उनके स्टॉल से कुछ ही दूरी पर था। लेकिन कुछ समय बाद रेस्टोरेंट को बन्द करना पड़ा था। जिसकी वजह बताते हुये बाबा ने कहा था कि इसे चलाने में एक लाख रुपये का खर्च आ रहा था और हमें 36 हजार रुपये कर्मचारियों को देना पड़ते थे और किराया 35 हजार रुपये महीना था। इसमें बिजली, पानी का बिल आदि खर्चे भी थे। आमदनी कम और खर्च ज़्यादा हो रहा था,इसलिये इसे बन्द करना पड़ा। इस बीच बाबा का फ़ूड ब्लॉगर गौरव वासन से विवाद हो गया था। बाबा ने गौरव पर चंदा चोरी के आरोप लगाए थे। जिसके बाद बाबा की बहुत किरकिरी हुई। उन्हें लोगों ने एहसानफरामोश बताते हुये ट्रोल किया। हालाँकि बाद में दोनों ने आपस के गिले-शिकवे दूर कर लिए थे।


गौरव वासन ने सारे गिले शिकवे भुलाकर बुजुर्ग दंपत्ति के साथ एक खूबसूरत तस्वीर साझा की थी। गौरव वासन ने यह तस्‍वीर ढाबे के मालिक कांता प्रसाद के माफी मांगने के बाद पोस्‍ट की थी
तस्‍वीर पोस्‍ट करते हुए गौरव वासन ने ट्वीट किया था कि “ऑल इज वेल जिसका अंत अच्छा होता है।” इससे पहले एक दूसरे फ़ूड ब्लॉगर द्वारा साझा किए गए वीडियो में कांता प्रसाद हाथ जोड़कर यह कहते हुए सुने गए थे कि गौरव वासन चोर नहीं थे। हमने उन्हें कभी चोर नहीं कहा।
वहीं इस बारे में गौरव वासन ने कहा है कि वह इस मामले पर कुछ भी कहना नहीं चाहते। वह बाबा से मिलकर सभी गिले-शिकवे पहले ही दूर कर चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here