“मुझे भी अच्छा ट्रीटमेंट मिल जाता तो मैं भी बच जाता” एक्टर लगाता रहा गुहार,नही मिला उपचार

नई दिल्ली(शमशाद रज़ा अंसारी)
दिल्ली की केजरीवाल सरकार स्थिति सम्भालने के चाहे लाख हवाई दावे करती रहे। लेकिन धरातल पर स्थिति कुछ और ही है। रोज़ हो रहीं मौतें स्वास्थ्य को लेकर तमाम सुविधाओं का दावा करने वाली दिल्ली सरकार की पोल खोल रही हैं। लोग गुहार लगाते-लगाते ज़िन्दगी से हार रहे हैं।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App


यूट्यूब और फेसबुक पर लाखों फैन फॉलोइंग वाले नेटफ्लिक्स फ़िल्म Unfreedom में नज़र आये अभिनेता राहुल वोहरा भी नरेंद्र मोदी और मनीष सिसोदिया से गुहार लगाने के बाद कोरोना से जंग हार गये। उनका कोरोना से रविवार सुबह 6:30 बजे निधन हो गया। सिस्टम से मदद की उम्मीद तोड़ चुके राहुल वोहरा ने अपनी साँसों की डोर भी तोड़ ली। थिएटर डायरेक्टर और प्ले राइटर अरविंद गौर ने अपने फेसबुक पोस्ट में राहुल के निधन की खबर की पुष्टि की है।
23 घंटे पहले ही राहुल ने फेसबुक पर एक पोस्ट डाली थी जिसमे उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री सिसोदिया को टैग करते हुए लिखा था,
“मुझे भी अच्छा ट्रीटमेंट मिल जाता तो मैं भी बच जाता, तुम्हारा राहुल वोहरा। जल्दी जन्म लूंगा और अच्छा काम करूंगा, अब हिम्मत हार चुका हूँ।”

https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=318103159678798&id=100044373490308

राहुल वोहरा 5 दिन पहले भी अपने लिए ऑक्सीजन बेड की गुहार लगा रहे थे। उनका ऑक्सीजन लेवल हर रोज़ गिरता जा रहा था। उन्होंने लिखा था,
“मैं कोविड पॉजिटिव हूं,एडमिट हूं। लगभग 4 दिनों से कोई रिकवरी नहीं हुई है। क्या कोई ऐसा अस्पताल है जहां ऑक्सीजन बेड मिल जाए? मेरा ऑक्सीजन लेवल लगातार गिरता जा रहा है और कोई देखने वाला नहीं है। मैं बहुत मजबूर होकर ये पोस्ट कर रहा हूं क्योंकि घरवाले कुछ संभाल नहीं पा रहे।”

https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=315612726594508&id=100044373490308

राहुल वोहरा अस्मिता थियेटर ग्रुप से साल 2006 से 2008 तक जुड़े थे। अस्मिता थियेटर ग्रुप के प्रमुख और समाजसेवी अरविंद गौड़ अपने आधिकारिक ट्विटर पर राहुल वोहरा के निधन से सबंधित जानकारी देते हुए लिखा,
“राहुल वोहरा चला गया। मेरा होनहार एक्टर अब नहीं रहा। कल ही राहुल ने कहा था कि मुझे अच्छा ईलाज मिल जाता तो मैं भी बच जाता। कल शाम ही उसे राजीव गांधी हास्पिटल से आयुष्मान, द्वारका में शिफ्ट किया गया, पर..राहुल तुम्हें नहीं बचा पाए, मुआफ करना, हम तुम्हारे अपराधी है.. आखिरी नमन..”

https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=10165437263115475&id=655620474

बता दें कि राहुल वोहरा उत्तराखंड के डिजिटल प्लेटफॉर्म पर एक लोकप्रिय चेहरा थे। वह नेटफ्लिक्स की सीरीज अनफ्रीडम में नजर आए थे। राहुल के काम को खूब पसंद किया गया था और फैंस ने उनकी जमकर तारीफें भी की थीं। राहुल वोहरा शादीशुदा थे। उन्होंने ज्योति तिवारी नाम की लेखिका से शादी की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here