होम आइसोलेट लोगों की 24 घंटे के अंदर काॅल कर उनकी काउंसलिंग शुरू कर दी जाए: अरविंद केजरीवाल

  • प्रतिदिन कितने कोरोना मरीज अस्पताल जा रहे और कितने होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे, इसका स्पष्ट रिकाॅर्ड रखा जाए – अरविंद केजरीवाल
  • होम आइसोलेशन में रह रहे जिन मरीजों के पास ऑक्सीमीटर नहीं है, उन्हें किट के साथ ऑक्सीमीटर भी जरूर उपलब्ध कराई जाए- अरविंद केजरीवाल
  • सीएम अरविंद केजरीवाल ने होम आइसोलेशन प्रणाली को मजबूत करने के लिए उपमुख्यमंत्री, मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव स्वास्थ्य के साथ की समीक्षा बैठक

नई दिल्ली, 03 मई, 2021
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने होम आइसोलेशन प्रणाली को और मजबूत करने के उद्देश्य से आज दिल्ली सचिवालय में समीक्षा बैठक की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को होम आइसोलेशन को और अधिक प्रभावी बनाने के निर्देश दिए। सीएम अरविंद केजरीवाल ने निर्देश दिए गए कि दिल्ली में प्रतिदिन हो रहे कोरोना जांच का स्पष्ट रिकाॅर्ड रखा जाए। रिकाॅर्ड में यह स्पष्ट किया जाए कि कितने लोग अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं और कितने लोग होम आइसोलेशन में घर पर ही अपना इलाज करा रहे हैं। सीएम ने यह भी निर्देश दिए कि होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे लोगों के पास हर हाल में 24 घंटे के अंदर डाॅक्टर की काॅल चली जानी चाहिए, ताकि उनकी काउंसलिंग जल्द शुरू की जा सके। साथ ही, जिन मरीजों के पास ऑक्सीमीटर नहीं है, उन्हें किट के साथ ऑक्सीमीटर भी तत्काल मुहैया कराई जाए।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोरोना संक्रमित मरीजों का होम आइसोलेशन में बेहतर इलाज मुहैया कराने को लेकर आज दिल्ली सचिवालय में होम आइसोलेशन प्रणाली की समीक्षा बैठक की। समीक्षा बैठक में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के अलावा मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य) और संभागीय आयुक्त समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे। अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे लोगों को दी जा रही सुविधाओं की विस्तृत जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि होम आइसोलेशन में अपना इलाज करा रहे मरीजों की अच्छी देखभाल की जा रही है और उनके स्वास्थ्य पर हर पल नजर रखी जा रही है। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर होम आइसोलेशन को और प्रभावी मनाने के लिए कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए।
सीएम अरविंद केजरीवाल ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि हमें होम आइसोलेशन प्रणाली को और अधिक मजबूत करने की जरूरत है, ताकि घर पर इलाज करा रहे मरीजों को समय से अच्छी काउंसलिंग के साथ अच्छा इलाज मिल सके। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि दिल्ली में प्रतिदिन होने वाली कोरोना की जांच का बहुत ही स्पष्ट और साफ रिकाॅर्ड रखा जाए। रिकाॅर्ड में यह भी दर्शाया जाए कि जो लोग कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं, उनमें से कितने लोगों को इलाज कराने के लिए अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत पड़ रही है और इनमें से कितने मरीज होम क्वारंटाइन में रह कर इलाज करा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को इस पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए हैं।
इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे मरीजों के लगातार संपर्क में रहने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जो लोग होम आइसोलेशन में हैं, उनके पास हर हाल में 24 घंटे के अंदर हमारी डाॅक्टरों की टीम की तरफ से काॅल चली जानी चाहिए, ताकि उनका जल्द से जल्द काउंसलिंग शुरू की जा सके। सीएम ने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे प्रत्येक मरीज को काॅल कर यह भी पूछा जाए कि उनके पास ऑक्सीमीटर है या नहीं है। इस दौरान जो भी मरीज बताए कि उनके पास ऑक्सीमीटर नहीं है, तो उनकी सूची बनाई जाए कि उनके पास ऑक्सीमीटर नहीं है। अगले दिन जब जिला प्रशासन की टीम किट लेकर उनके पास जाए, तो किट के साथ ऑक्सीमीटर भी लेकर जाए और उन सभी मरीजों को ऑक्सीमीटर प्रदान की जाए, जिनके पास नहीं है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here