नई दिल्ली : राघव चड्ढा ने कहा कि आम आदमी पार्टी, दिल्ली पुलिस द्वारा भारत की 21 वर्षीय एक्टिविस्ट दिश रवि की गिरफ्तारी की कड़े शब्दों में निंदा करती है और दिशा रवि को तत्काल रिहा करने की मांग करती है।

यह गिरफ्तारी नहीं है, बल्कि एक असाधारण अपहरण है। उन्होंने कहा, मोदी सरकार भारत के युवाओं को डराना चाहती है, ताकि वे भाजपा के खिलाफ आवाज न उठाएं। आम आदमी पार्टी देश के सभी युवाओं से एकजुट होकर लोकतंत्र को खत्म करने की चल रही भाजपा की कोशिशों के खिलाफ आवाज़ उठाने की अपील करती है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

दिश रवि की गिरफ्तारी से पता चलता है कि किसानों के विरोध के कारण मोदी सरकार किस कदर बौखला गई है और डरी हुई है। मोदी सरकार को यह बताना चाहिए कि वे दो शब्द कौन से हैं, जिन्हें दिशा रवि ने कहा है और जो भाजपा के अनुसार राष्ट्र के लिए खतरा बन गया है।

राघव चड्ढा ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सुबह ट्वीट कर साफ तौर पर युवा एक्टिविस्ट दिशा रवि की गिरफ्तारी की निंदा की है। आम आदमी पार्टी एक स्वर में कहना चाहती है कि भाजपा की केंद्र सरकार ने युवा कार्यकर्ता दिशा रवि को गिरफ्तार कर निंदनीय कार्य किया है।

आम आदमी पार्टी कड़े शब्दों में इसकी निंदा और आलोचना करती है। हम यह सोचते हैं कि एक इतनी बड़ी विशाल 300 सांसदों वाली 56 इंच की छाती वाली सरकार एक 21 साल की जलवायु एक्टिविस्ट से डरती है। सरकार इतना डरती है कि दिल्ली से पुलिस भेज कर उसे गिरफ्तार किया गया है।

प्रधानमंत्री ने कहा था कि विपक्ष के कुछ नेता हैं जो नाराज फूफी की तरह बर्ताव करते हैं, जब-जब नाराज फूफी को शादी में नहीं बुलाया जाता है। क्या आज ऐसी स्थिति आ गई है कि हम अपने देश के युवा को नाराज फूफी समझकर उन्हें जेलों में बंद करेंगे।

सुप्रीम कोर्ट ने कुछ दिन पहले एक आदेश में कहा था कि एक दिन के लिए भी किसी की स्वतंत्रता, अभिव्यक्ति से खिलवाड़ होता है तो वह देश और संविधान के खिलाफ है। इसकी भारी कीमत इस देश को चुकानी पड़ सकती है।

राघव चड्ढा ने कहा कि देश के युवा से नरेंद्र मोदी सरकार घबराई और डरी हुई है। मोदी सरकार को विपक्ष से एलर्जी है लेकिन उससे ज्यादा युवाओं से एलर्जी है। युवा छात्र बड़ी मजबूती से अपनी बात को इस लोकतंत्र में खुलकर रखते आए हैं।

लेकिन भारतीय जनता पार्टी को देश का युवा शायद पसंद नहीं है जिसकी वजह से उन्होंने 21 साल की छात्रा को गिरफ्तार किया है। दिल्ली से एक गुप्त ऑपरेशन के तहत दिल्ली पुलिस को भेजा गया। यह वही भाजपा है जब इंदिरा गांधी ने आपातकाल लगाया था तो उस समय इसके कई सारे नेता जेल में बंद हुए थे।

भाजपा के वो नेता अपनी जेल में बिताए हुए कुछ महीनों को एक सम्मान की तरह पहनकर घूमते हैं। आज भी अपने जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धियों में इसे गिनाते हैं कि इंदिरा गांधी की इमरजेंसी में हम जेल गए थे। क्योंकि हमें देश के लोकतंत्र की रक्षा करनी थी।

1970 के दशक की याद जो बात-बात पर दिलाते हैं और आपातकाल की बात कर कांग्रेस पार्टी को घेरने की कोशिश करते हैं। आज वह लोग उसी हिसाब से इस देश को अघोषित आपातकाल की ओर ले जा रहे हैं।

मैं आज पूछना चाहूंगा कि आप कड़े शब्दों में 70 के दशक में लगाई गई इमरजेंसी की तो निंदा करते हैं, लेकिन आप 21 साल के बच्चों को पुलिस भेज कर जेल में बंद कर देते हैं। दूसरे राज्य से की गई गिरफ्तारी में ट्रांजिट रिमांड सहित अन्य कानूनी प्रक्रियाओं का पालन नहीं किया जाता। यह कहां का इंसाफ है। अगर यह आपातकाल नहीं है तो फिर आपातकाल क्या है।

राघव चड्ढा ने कहा कि आम आदमी पार्टी आज देश के सभी युवाओं से अपील करती है कि आप एकजुट हो जाइए और मिलकर एक स्वर में भारतीय जनता पार्टी की जो देश में लोकतंत्र को समाप्त करने की कोशिश है उसके खिलाफ आवाज बुलंद कीजिए।

देश के युवाओं से हम आज अपील करते हैं कि आप एक स्वर में साथ आकर और मजबूत तरीके से भाजपा सरकार को जवाब दें। उन्हें अपनी ताकत का अहसास दिलाएं। बाबा साहब द्वारा दिया गया संविधान इस लोकतांत्रिक देश में लागू है।

वह हर व्यक्ति को विरोध दर्ज कराने की आजादी देता है। लेकिन आज 21 साल की भारत की बेटी दिशा रवि को गिरफ्तार किया गया है। भाजपा सरकार ने यह दिखा दिया है कि यह सरकार कितनी डरी और घबराई हुई है जो एक 21 साल की बालिका से डरती है और उसे गिरफ्तार कर लेती हैं।

क्या हमारा भारत इतना कमजोर है। क्या भारत के प्रधानमंत्री और प्रचंड बहुमत वाली सरकार इतनी कमजोर है कि वह 21 साल की भारत की बेटी से डर गई। 21 साल की बेटी को इसलिए गिरफ्तार कर लिया क्योंकि वह तीन काले कानूनों का विरोध कर रही थी।

राघव चड्ढा ने कहा कि इस देश को आज यह दिन देखना पड़ेगा यह सोचकर मेरी रूह कांप जाती है। उस बेचारी के माता-पिता पर क्या गुजर रही होगी। उसके माता-पिता का ध्यान करते हुए आम आदमी पार्टी मांग करती है भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार दिशा रवि को तुरंत रिहा करे।

आम आदमी पार्टी आज कहना चाहती है कि 21 साल की एक पढ़ी-लिखी बिटिया को गिरफ्तार कर मोदी सरकार ने साफ कर दिया है कि वह कितनी घबराई और डरी हुई है। दिशा रवि को गिरफ्तार कर भाजपा सरकार यह बताना चाहती है कि कोई भी तीन काले कानूनों के खिलाफ अपनी आवाज ना उठाए।

राघव चड्ढा ने कहा कि मैं इस मंच से आज भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार और दिल्ली पुलिस से पूछना चाहता हूं कि वह कौनसी दो लाइनें हैं जिसका हवाला बार-बार दिल्ली पुलिस दे रही है और कह रही है कि दिशा रवि को हमने इन दो वाक्यों के लिए गिरफ्तार किया है। ऐसी वो दो क्या लाइनें हैं, यह सार्वजनिक किया जाए।

दो लाइनों में ऐसा क्या है जो भारत की प्रभुता और अखंडता को हिला दे। क्या वह ऐसा कोई अपराध हो गया जिससे हमारी भारत माता की एकता और अखंडता को चोट पहुंची है। मैं बड़े साफ शब्दों में भारतीय जनता पार्टी की सरकार को कहना चाहूंगा कि सरकार से मतभेद रखना, देश से मतभेद रखना नहीं है।

आप कानूनी प्रावधानों और स्टेट मशीनरी का दुरुपयोग करके मतभेदों को रोकना चाहते हैं कि कोई भी व्यक्ति मोदी सरकार खिलाफ ना बोले। आम आदमी पार्टी कड़े शब्दों में दिशा रवि की गिरफ्तारी की निंदा करती है।

यह मांग करती है कि उन्हें तत्काल छोड़ा जाए। साथ ही देश की युवाओं से अपील है कि आप सब एकजुट हो जाइए। एकजुट होकर अपनी आवाज को शांतिपूर्ण तरीके से बुलंद करिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here