Urdu

Epaper Urdu

YouTube

Facebook

Twitter

Mobile App

Home दिल्ली दिल्ली को 5000 करोड़ की मदद करे केंद्र सरकार : उपमुख्यमंत्री मनीष...

दिल्ली को 5000 करोड़ की मदद करे केंद्र सरकार : उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया

दिल्ली ने केंद्र सरकार से 5000 करोड़ की आर्थिक सहायता मांगी है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने 26 मई को केंद्रीय वित्तमंत्री को पत्र लिखा है। आज ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए सिसोदिया ने यह जानकारी दी।

श्री सिसोदिया ने बताया कि लॉकडाउन के कारण पूरे देश की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ा है। दिल्ली पर भी इसका काफी असर हुआ है। दिल्ली सरकार ने अपने न्यूनतम खर्च की समीक्षा की है। इसके अनुसार केवल सैलरी तथा ऑफिस खर्च पर न्यूनतम 3500 करोड़ का मासिक खर्च है। विगत दो माह में जीएसटी से मात्र 500 करोड़ मासिक का संग्रह हुआ है। जीएसटी तथा अन्य स्रोत मिलाकर प्रथम तिमाही में कुल 1735 करोड़ रुपये मात्र का संग्रह हुआ है।
पिछले साल इस अवधि में 7799 करोड़ का राजस्व संग्रह हुआ था। इस साल राजस्व में 78 फीसदी की गिरावट आई है। श्री सिसोदिया के अनुसार वर्तमान में दिल्ली को न्यूनतम 5000 करोड़ की आवश्यकता है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

श्री सिसोदिया ने कहा कि आपदा राहत कोष से अन्य राज्यों को केंद्र सरकार से मदद मिली है। लेकिन दिल्ली सरकार को कोई मदद नहीं मिली। सामान्य तौर पर भी केंद्र द्वारा दिल्ली सरकार को कोई आर्थिक सहायता नहीं दी जाती है। लेकिन अभी जब दिल्ली में राजस्व संग्रह नहीं हो रहा, तब केंद्र से मदद मिलना जरूरी है। इससे हम कर्मचारियों, शिक्षकों, डॉक्टर, इंजीनियर, सिविल डिफेंस के लोग तथा कोरोना राहत में जुटे अन्य कर्मियों को सैलरी का भुगतान कर पाएंगे।

केंद्रीय वित्तमंत्री को पत्र लिखकर 5000 करोड़ की सहायता मांगी, ताकि सैलरी का भुगतान हो सके : सिसोदिया

श्री सिसोदिया ने 26 मई को केंद्रीय वित्तमंत्री के नाम पत्र में लिखा है कि कोरोना नियंत्रण में दिल्ली देश के अग्रणी राज्यों में है। दिल्ली अपना समस्त खर्च अपने संसाधनों से उठाती है। वित्त वर्ष 2020-21 में दिल्ली विधानसभा ने 65000 करोड़ का बजट पास किया है। इसमें 35500 करोड़ का खर्च स्थापना, लोकल बॉडीज को योगदान तथा ब्याज इत्यादि में होता है। सामान्य स्थिति में दिल्ली अपने संसाधनों से अपना खर्च उठाने में सक्षम है। लेकिन मौजूदा संकट में केंद्र की मदद आवश्यक है। केंद्र से 5000 करोड़ अनुदान मिलने पर दिल्ली नगर निगम को वेतन तथा स्थापना व्यय देने में भी सुविधा होगी।

श्री सिसोदिया के अनुसार दिल्ली सरकार ने कोरोना से लड़ने के लिए अस्पतालों को अपग्रेड किया है। पीपीई, वेंटीलेटर, टेस्टिंग किट, सैनिटाइजर, एन-95 मास्क इत्यादि का समुचित प्रबंध किया है। जरूरतमंद लोगों के लिए भोजन तथा राशन वितरण के अलावा प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेजने संबंधी रेलवे का किराया भी दिल्ली सरकार भुगतान कर रही है। उक्त आलोक में श्री सिसोदिया ने केंद्र सरकार से 5000 करोड़ के अनुदान की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

अमेरिका ने किया WHO से हटने का ऐलान, राष्ट्रपति उम्मीदवार बाइडन ने किया विरोध

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के बीच अमेरिका विश्व स्वास्थ्य संगठन छोड़ रहा है, वह अपने फैसले पर पुनर्विचार करने को तैयार नहीं...

WHO ने भी माना- ‘कोरोना का हो सकता है हवा से संक्रमण, मिले हैं सबूत’

नई दिल्ली:  कोरोना वायरस का खतरा दिन प्रतिदिन दुनिया में बढता जा रहा है अब इस वायरस से हवा के ज़रिये भी...

लोक-पत्र संभाग- क्या लोकतंत्र का लोक अपने लोक की समस्या पढ़ना चाहेगा?

रवीश कुमार  1. सर बैंक से कृषि लोन लिया था जिसमे मात्र 7 प्रतिशत का व्याज लिया जाता है...

कांग्रेस ने PM मोदी पर तंज कशते हुए पूछा- ‘सेना अपने ही इलाक़े से क्यों पीछे हट रही है?’

नई दिल्ली: भारत–चीन के बीच सीमा विवाद में कल लद्दाख में चीनी सेना के साथ-साथ भारतीय सेना भी पीछे हटी, इसी मुद्दे...

पंजाब: बेअदबी कांड में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम मुख्य साजिशकर्ता, राजनीतिक दलों में हड़कंप

अमरीक गुरमीत राम रहीम सिंह का नाम अब नए विवाद में सामने आया है, श्री गुरु ग्रंथ साहिब बेअदबी...