नई दिल्ली : लोकेश राहुल ने जूझ रहे भारतीय गेंदबाजों का पूरा समर्थन करते हुए कहा कि जसप्रीत बुमराह एंड कंपनी ने अभी तक परिस्थितियों के अनुकूल ढलने में कठिनाइयों का सामना किया है.

यह हैरानी बात नहीं है कि बल्लेबाजों के मुफीद ऑस्ट्रेलियाई ट्रैक पर विकेट मुश्किल ही रहेगा, भारतीय गेंदबाजों ने ऑस्ट्रेलिया पहुंचने से पहले इंडियन प्रीमियर लीग में काफी शानदार प्रदर्शन किया था.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

लेकिन उन्होंने पहले दो वनडे में काफी ज्यादा रन लुटाये हैं जिससे मेजबान टीम ने तीन मैचों की वनडे श्रृंखला में 2-0 से अजेय बढ़त बना ली है, बुमराह पर टीम काफी निर्भर रहती है लेकिन घरेलू टीम के बल्लेबाजों ने उनकी और मोहम्मद शमी की गेंदबाजी को साधारण प्रतीत कराते हुए मन माफिक रन जुटाये.

राहुल ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘मैं इस बात से सहमत नहीं हूं जब आप कहते हो कि वे जूझ रहे हैं, यहां अलग तरह के हालात हैं, अलग प्रारूप है, यह हमारे लिये सीखने की चीज (लर्निंग कर्व) है कि हम सोचें कि जब इस तरह के अच्छे बल्लेबाजी विकेट पर खेलें तो कैसे बेहतर करें.’

 उन्होंने कहा, ‘सफेद गेंद के क्रिकेट में, नियमित अंतराल पर विकेट हासिल करना अहम है, तभी आप रन गति पर लगाम कस सकते हो, हमें विकेट हासिल करने का अपना मंत्र ढूंढना होगा और बल्लेबाजी इकाई को सोचना होगा कि 30-40 रन की भागीदारी को कैसे बढ़ाना होगा.’

राहुल ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज परिस्थितियों के वाकिफ होने के कारण अच्छा कर सके, उन्होंने कहा, ‘हम तेजी से हालात के अनुसार नहीं ढले, हमारे गेंदबाजी ग्रुप के लिये यह सीखने की चीज है कि वे तेजी से परिस्थितियों के अनुसार ढले.

यह पूछने पर क्या यह बुमराह के लिये खराब दौर है जो साल के शुरू में न्यूजीलैंड में भी जूझते दिखे थे तो राहुल ने कहा कि यह तेज गेंदबाज शानदार वापसी करेगा.

उन्होंने कहा, ‘हम सभी जानते हैं कि जसप्रीत मैदान पर बहुत ही उग्र और प्रतिस्पर्धी है, वह इस टीम के लिये काफी अहम है, हम जसप्रीत की अहमियत जानते हैं, यह समय की बात है कि एक चैम्पियन खिलाड़ी वापसी करे और हमारे लिये विकेट चटकाये.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here