नई दिल्ली : इरफान पठान ने बायें हाथ के कलाई के स्पिनरों को ‘अनूठा’ करार देते हुए इंग्लैंड के खिलाफ आगामी टेस्ट श्रृंखला के लिये कुलदीप यादव को भारतीय टीम में शामिल करने की सिफारिश की है.

कुलदीप को पिछले तीन महीनों में अधिकतर समय बेंच पर ही बिताना पड़ा लेकिन पठान ने कहा कि यह ‘अनूठा गेंदबाज’ पांच फरवरी से चेन्नई में शुरू होने वाली टेस्ट श्रृंखला में अच्छा प्रदर्शन करेगा.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

पठान ने कहा कि यह टीम प्रबंधन की दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण है कि जो खिलाड़ी नहीं खेल रहा है उसकी मानसिकता वे कैसे बनाये रखते हैं, मुझे विश्वास है कि वे सही काम कर रहे हैं और यही वजह है कि कुछ युवा खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया है.

पठान ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास कि वे कुलदीप यादव का समर्थन कर रहे होंगे क्योंकि वह बेहद प्रतिभाशाली है, आपको हर दिन बायें हाथ के स्पिनर नहीं मिलते.

पठान ने कहा कि वह अनूठा गेंदबाज है, वह 25-26 साल का है और यह वह उम्र है जहां वह परिपक्वता हासिल करेगा, उसे जब भी मौका मिलेगा, पहला टेस्ट हो या दूसरा टेस्ट वह अच्छा प्रदर्शन करने के लिये बेताब होगा और मुझे पूरा विश्वास है कि वह इसमें सफल रहेगा.

पठान ने कहा कि जब इंग्लैंड की बात आती है तो इतिहास देख लो, अगर आप लेग स्पिनर हो तो आपके पास सफलता के अधिक मौके रहेंगे, इसलिए मुझे विश्वास है कि जब भी उसे खेलने का मौका मिलेगा वह सफल होगा.

कुलदीप ने अब तक छह टेस्ट मैचों में 24 विकेट लिये हैं, उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट मैच जनवरी 2019 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था, श्रृंखला के पहले टेस्ट मैच के संयोजन के बारे में पठान ने कहा कि चेन्नई की पिच की प्रकृति को देखते हुए तीन स्पिनरों के साथ उतरना बुरा विकल्प नहीं होगा.

पठान ने कहा कि यह विकेट पर निर्भर करता है लेकिन इसकी काफी संभावना है कि चेन्नई में तीन स्पिनरों को खेलने का मौका मिले क्योंकि हमने देखा है कि चेन्नई की पिच अतिरिक्त उछाल और स्पिन गेंदबाजों के लिये अनुकूल मिट्टी के कारण वास्तव में स्पिनरों को कैसे मदद कर सकती है, पठान को लगता है कि युवा वाशिंगटन सुंदर और अनुभवी रविचंद्रन अश्विन चारों टेस्ट मैच में खेल सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here