पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिरने शुक्रवार को टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लेने की घोषणा की। उनके इस फैसले से दुनिया भर में उनके प्रशंसक हैरान है।

हालांकि 27 वर्षीय यह तेज गेंदबाज मोहम्मद अब पूरी तरह सफेद बॉल (सीमित ओवरों) क्रिकेट पर फोकस करना चाहता है इसलिए उन्होंने लाल बॉल (टेस्ट फॉर्मेट) क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

आमिर ने अपने संन्यास के फैसले पर जारी एक स्टेटमेंट में कहा, ‘मेरे लिए यह सम्मान की बात थी कि क्रिकेट के शीर्ष और पारंपरिक फॉर्मेट में पाकिस्तान के लिए खेला। लेकिन अब मैंने इस लंबे प्रारूप से अलग होने का फैसला किया है ताकि मैं सफेद बॉल क्रिकेट पर और ध्यान लग सकूं।’

आमिर ने कहा, ‘पाकिस्तान के लिए खेलना मेरी सबसे बड़ी इच्छा और लक्ष्य रहा है। अब मैं सफेद बॉल क्रिकेट के लिए अपने शरीर को बेस्ट शेप में लाने पर काम करूंगा, ताकि मैं इस खेल में अपना बेस्ट परफॉर्म कर सकूं। इसमें अगले साल होने वाला आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप भी शामिल है।

उन्होने कहा, संन्‍यास का ऐलान करना आसान फैसला नहीं था और काफी समय से इस बारे में सोच रहा था, लेकिन आईसीसी वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप जल्‍द ही शुरू होने वाली है और पाकिस्‍तान के पास कुछ बेहतरीन युवा तेज गेंदबाज हैं ऐसे में टेस्‍ट क्रिकेट से अलग होने के लिए सही समय है।’

बता दें कि आमिर ने 17 साल की उम्र में श्रीलंका के खिलाफ 2009 में पहली बार टेस्ट खेला था। 10 साल लंबे टेस्ट करियर में उन्होंने 36 मैच खेले। इस दौरान 119 विकेट अपने नाम किए। इस दौरान उनका औसत 30.47 रहा। वेस्टइंडीज के खिलाफ अप्रैल 2017 में 44 रन पर 6 विकेट उनका सबसे बेहतरीन प्रदर्शन रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here