रजत पदक लेकर घर लौटे नोएडा के डीएम सुहास,पति-पत्नी की छलकी आँखें


(शमशाद रज़ा अंसारी)
गौतमबुद्धनगर। टोक्यो पैरा ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने के बाद नोएडा के जिलाधिकारी सुहास एलवाई सोमवार शाम स्वदेश वापस लौट आए। गौतमबुद्धनगर जिला प्रशासन के अधिकारी उन्हें दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर लेने पहुँचे थे।

उनकी पत्नी ऋतु सुहास भी हवाई अड्डे पहुँची थीं। पैरालंपिक के दौरान वीडियो कॉलिंग के द्वारा बात करने वाले दोनों पति-पत्नी जब प्रत्यक्ष रूप से एक दूसरे के आमने-सामने आए तो भावुक हो गए। ऋतु और सुहास की आंखों में आंसू छलक आए। जिसने भी यह नज़ारा देखा वो भी पति-पत्नी के इस प्रेम को देख कर भावुक हो गया। ऋतु ने सुहास एलवाई के गले में माला डालकर बधाई दी। सुहास ने ऋतु के हाथ बड़ी शिद्दत से थाम लिए। दोनों के चेहरों पर खुशी साफ देखी जा सकती थी। साथ ही आंखों में छलक आए आंसू भी साफ-साफ नजर आ रहे थे।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App


ऋतु सुहास गाजियाबाद में बतौर अपर जिलाधिकारी प्रशासन तैनात हैं। इससे पहले वे लखनऊ विकास प्राधिकरण की सचिव थीं। ऋतु मूलरूप से उत्तर प्रदेश की रहने वाली हैं और सुहास एलवाई कर्नाटक के मूल निवासी हैं।


डीएम सुहास यतिराज के नोएडा में प्रवेश करते ही उनके समर्थकों ने फूल-माला, डोल-नगाड़े से उनका भव्य स्वागत किया। हालांकि इस दौरान डीएनडी पर लंबा जाम लग गया। पीक ऑवर होने की वजह से कई किलोमीटर तक गाड़ियां रेंगते हुए चलीं।


फूलों से सजी खुली जीप में सवार जिलाधिकारी सुहास एलवाई का सेक्टर-27 स्थित आवास पर भी आतिबाजी और ढोल नगाड़ों के साथ स्वागत किया गया। स्वागत के बाद वह जीप से नीचे उतरे तो उनका बेटा सीधे अपने पिता से बांहे फैला कर लिपट गया।


बेटे को गोद में लेकर सुहास अंदर खड़ी अपनी माँ के पास पहुँचे। सुहास ने अपनी माँ जयश्री सीएस के चरणों में गिर कर उनका आर्शीवाद लिया। माँ ने बेटे को गले लगा कर चूमा। उनकी बहू ऋतु सुहास ने भी अपनी अपनी सास के पैर छूए। इसके बाद सुहास ने अंदर जाकर अपने भगवान एवं दिवंगत पिता की तस्वीर के सामने सर झुका कर उनका आशीर्वाद लिया।


उनके सम्मान में जिला प्रशासन ने बैडमिंटन व शटल की आकृति वाला केक कटवा कर जीत का जश्न मनाया। केक सुहास दंपति ने काटा और जीत की खुशी जाहिर की। इसके बाद डीएम ने मौजूद लोगों के बीच पहुंच कर उनका धन्यवाद किया। 
आपको बता दें कि गौतम बुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास यतिराज ने टोक्यो पैरालंपिक्स में पुरुष सिंगल्स बैडमिंटन स्पर्धा एसएल-4 का रजत पदक जीत कर इतिहास रचा है। हालांकि उनका स्वर्ण पदक जीतने का सपना टूट गया। फाइनल मुकाबले में फ्रांस के खिलाड़ी लुकास माजुर ने सुहास यतिराज को 2-1 से शिकस्त दी। उनकी इस उपलब्धि पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी बधाई दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here