श्रीनगरः जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन(जेकेसीए) घोटाला मामले में नेशनल कांफ्रेंस(एनसी)पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला की संपत्ति कुर्क किये जाने को लेकर विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रमुख नेताओं ने प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) के खिलाफ तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

एनसी के उपाध्यक्ष एवं डॉ अब्दुल्ला के पुत्र उमर अब्दुल्ला ने ईडी के निर्णय की निंदा करते हुए कहा, “ उनके पिता को ईडी की ओर से कोई आधिकारिक नोटिस अथवा दस्तावेज प्राप्त नहीं हुए तथा संपत्ति की कुर्की संबंधी जानकारी मीडिया के जरिए मिली। वह स्वयं पर लगे बेबुनियाद आरोपों के खिलाफ अदालत में मुकदमा लड़ेंगे।”

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी(पीडीपी) प्रमुख एवं पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा, “ डॉ अब्दुल्ला की संपत्तियों को कुर्क करना राजनीति बदले की कार्रवाई है। ईडी और राष्ट्रीय जांच एजेंसी(एनआईए) का दुरुपयोग करना भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) की हताशा को जाहिर करता है।”

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) नेता मोहम्मद युसूफ तरिगामी ने कहा कि डॉ अब्दुल्ला की संपत्ति को कुर्क किया जाना केंद्र सरकार की अपने खिलाफ देश भर में असंतोष और असहमति को दमित करने की प्रचलित राजनीति का हिस्सा है। यह मामला ऐसे समय सामने आया है जब हाल में जिला विकास परिषदों के चुनाव संपन्न हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि शनिवार को मीडिया में रिपोर्ट आयी थी कि ईडी ने जेकेसीए में कथित वित्तीय अनियमितताएं और इससे जुड़े धन शोधन मामले में कार्रवाई करते हुए डॉ अब्दुल्ला की 11.86 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्ति कुर्क की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here