नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक ने कहा कि दिल्ली नगर निगम में सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी भलस्वा स्थित कूड़े के पहाड़ के निस्तारण के नाम पर हर महीने 5 करोड़ रुपए का घोटाला कर रही है। दिल्ली बाॅर्डर पर स्थित यह कूड़े के पहाड़ भाजपा शासित नगर निगम के 15 सालों के भ्रष्टाचार का प्रतीक हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश से दिल्ली में प्रवेश करने वालों का यह कूड़े के पहाड़ सबसे पहले स्वागत करते हैं। दिल्ली की जनता आने वाले एमसीडी चुनाव में भाजपा की राजनीति को उनके ही बनाए कूड़े के पहाड़ों में दफन कर देगी। वहीं, पूर्व विधायक नितिन त्यागी ने कहा कि भाजपा के भ्रष्टाचार से खड़े हुए यह कूड़े के पहाड़ आज दिल्ली का लैंड मार्क बन चुके हैं। उत्तरी दिल्ली नगर निगम से नेता विपक्ष विकास गोयल ने कहा कि भाजपा शासित नगर निगम, दिल्ली में किसी बड़े हादसे का इंतजार कर रही है।

पार्टी मुख्यालय में हुई एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक ने कहा कि दिल्ली की खूबसूरती को दाग लगाने का काम यदि किसी ने किया है, तो भाजपा शासित नगर निगम ने किया है। आज आप चाहे हरियाणा की तरफ से, चाहे उत्तर प्रदेश की तरफ से या फिर राजस्थान की तरफ से दिल्ली की सरहद में प्रवेश करें, तो पिछले 15 सालों से भाजपा शासित नगर निगम के भ्रष्टाचार और निकम्मेपन के कारण खड़े हुए कूड़े के ऊंचे ऊंचे पहाड़ आपका स्वागत करते हैं।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

उन्होंने कहा कि इन कूड़े के पहाड़ों को लेकर दिल्ली की जनता बेहद ही परेशान है। कई बार जनता सड़कों पर उतरी, भाजपा के नेताओं से प्रश्न पूछा, न्यायालय के माध्यम से प्रश्न पूछा, तमाम तरीकों से प्रश्न पूछे गए और हर बार भाजपा के नेता उन प्रश्नों के जवाब में झूठ पर झूठ बोलते रहे। 2018 में जस्टिस लोको और दीपक गुप्ता जी की बेंच के समक्ष इन्हीं कूड़े के पहाड़ों के निस्तारण को लेकर जन सुनवाई चल रही थी, तो कोर्ट ने भाजपा के नेताओं से पूछा कि यह कूड़े के पहाड़ खत्म क्यों नहीं हो रहे हैं? भाजपा के नेताओं ने कोर्ट के समक्ष भी झूठ बोला, जिसको लेकर जज इतने नाराज हुए कि उन्होंने कहा यह सारा कूड़ा उठाकर भाजपा के नेताओं के घर के सामने फेंक दिया जाए। भाजपा के नेताओं ने कोर्ट के सामने माफी मांगी और वादा किया कि जल्द से जल्द इस कूड़े के पहाड़ का निस्तारण कर दिया जाएगा। 2017 के निगम चुनावों में भाजपा के घोषणा पत्र का हवाला देते हुए दुर्गेश पाठक ने बताया कि अपने घोषणापत्र के आठवें बिंदु में भी भाजपा ने वादा किया था कि सरकार बनने के बाद बहुत जल्द इन कूड़े के पहाड़ों का निस्तारण कर दिया जाएगा। परंतु आज लगभग साढ़े तीन साल बीत चुके हैं, 1 इंच भी कूड़े का पहाड़ इधर से उधर नहीं हुआ है।

भाजपा शासित नगर निगम के एक और झूठ का पर्दाफाश करते हुए उन्होंने कहा कि बीते दिनों 26 जुलाई 2020 को भाजपा शासित नगर निगम के मेयर साहब ने खुद भलस्वा स्थित कूड़े के पहाड़ का दौरा किया था और उन्होंने बताया था, कि लगभग 12 मीटर पहाड़ की ऊंचाई कम की जा चुकी है। बड़े ही दुर्भाग्य की बात है कि यहां भी भाजपा ने फिर एक बार दिल्ली और देश की जनता के सामने झूठ परोसा। जहांगीरपुरी क्षेत्र की निगम पार्षद पूनम जी द्वारा भलस्वा स्थित कूड़े के पहाड़ के संबंध में मांगी गई रिपोर्ट का हवाला देते हुए दुर्गेश पाठक ने बताया कि 30 अगस्त 2020 को पूनम जी ने निगम के अधिकारियों से मांग की थी कि बताया जाए कि इस कूड़े के पहाड़ के निस्तारण के लिए कितना खर्चा किया जाता है और अभी तक कितना कूड़े का पहाड़ का निस्तारण किया जा चुका है? बेहद ही चैंकाने वाले आंकड़े सामने आए। रिपोर्ट बताती है कि भाजपा शासित नगर निगम द्वारा प्रतिमाह 5 करोड़ रुपए इस कूड़े के पहाड़ के निस्तारण के लिए खर्च किया जाता है, परंतु अफसोस की बात यह है कि आज तक 1 इंच भी कूड़े का पहाड़ कम नहीं हुआ है। पिछले 15 सालों से केवल और केवल झूठ का खेल खेला जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी के नेता जनता के सामने केवल झूठ बोल रहे हैं और प्रतिमाह 5 करोड रुपए केवल भलस्वा स्थित कूड़े के पहाड़ के निस्तारण के नाम पर भाजपा के लोग डकार जा रहे हैं। दुर्गेश पाठक ने कहा कि अब दिल्ली की जनता भाजपा के इस झूठ और भ्रष्टाचार से बुरी तरह परेशान हो चुकी है और आने वाले निगम के चुनावों में दिल्ली की जनता भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को इन्हीं कूड़े के पहाड़ में दफन करेगी और नगर निगम से भाजपा की गंदी और भ्रष्ट राजनीति का सफाया करेगी।

प्रेस वार्ता में मौजूद आम आदमी पार्टी के लक्ष्मी नगर से पूर्व विधायक नितिन त्यागी ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि यदि देश के किसी राज्य में या विदेश में किसी शहर में आप जाते हैं तो उस शहर की खूबसूरत चीजें आपका स्वागत करती हैं। परंतु जब आप दिल्ली में प्रवेश करते हो तो भाजपा के भ्रष्टाचार से खड़े हुए बड़े-बड़े कूड़े के पहाड़ आपका स्वागत करते हैं। यह कूड़े के पहाड़ भाजपा के भ्रष्टाचार और निकम्मेपन का प्रतीक बन चुके हैं। देश और दुनिया के जो शहर हैं वह दावा करते हैं कि हम बड़े-बड़े फ्लाईओवर बना रहे हैं, डैम बना रहे हैं, बड़ी- बड़ी बिल्डिंग बना रहे हैं, खूबसूरत पार्क बना रहे हैं, शहर को नए तरीके से डेवलप्ड कर रहे हैं, और दिल्ली में भाजपा शासित नगर निगम कहती है कि हम दिल्ली को कूड़े का ढेर बना रहे हैं, दिल्ली में कूड़े के बड़े बड़े पहाड़ बना रहे हैं। आज स्थिति यह है कि यह कूड़े के पहाड़ लैंड मार्क बन गए हैं। लोग मुलाकात के लिए कहते हैं कि भलस्वा के कूड़े के पहाड़ के सामने मिल जाना, गाजीपुर के कूड़े के ढेर के सामने मिल जाना। उन्होंने कहा कि कूड़े के पहाड़ से आसपास के क्षेत्र में स्थिति ऐसी हो गई है कि प्रति वर्ष स्थानीय लोगों के एयर कंडीशन के कॉपर से बने हुए क्वायल तक गल जाते हैं, तो इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि उस क्षेत्र में रहने वाले लोगों के फेफड़े किस प्रकार से गल रहे होंगे। भाजपा एक सोची-समझी रणनीति के तहत दिल्ली की जनता को बीमार करने की साजिश में लगी हुई है।

प्रेस वार्ता में मौजूद आम आदमी पार्टी के निगम पार्षद एवं उत्तरी दिल्ली नगर निगम से नेता विपक्ष विकास गोयल ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार जो भाजपा के नेता कर रहे हैं, वह तो एक मुद्दा है ही, परंतु उनके इस भ्रष्टाचार के कारण कूड़े के पहाड़ के आसपास रहने वाले लोगों की जान पर भी खतरा बना हुआ है। आप सभी को याद होगा कि कुछ साल पहले गाजीपुर कूड़े का पहाड़ खिसक जाने की वजह से कई लोगों की मृत्यु हो गई थी, इसी प्रकार से भलस्वा में स्थित कूड़े के पहाड़ के खिसक जाने की वजह से आसपास के लगभग 10 से 11 मकान ध्वस्त हो गए थे।

उन्होंने कहा कि भविष्य में भी इस प्रकार के बड़े हादसे होने की पूरी संभावना है। ऐसा प्रतीत होता है कि भाजपा के नेता किसी बड़ा हादसा होने का इंतजार कर रहे हैं। जब कभी इस प्रकार का हादसा होता है तो भाजपा जनता को बेवकूफ बनाने के लिए किसी छोटे-मोटे निगम के कर्मचारी पर सारी बात डाल कर उसे सस्पेंड कर देते हैं, जबकि सही मायने में जिम्मेदार तो भाजपा के वह नेता है जो निगम को चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं पूरी जिम्मेदारी के साथ इस बात को कह रहा हूं कि दिल्ली की जनता ने भाजपा को नगर निगम में जो जिम्मेदारी दी थी, भाजपा अपनी सभी जिम्मेदारियों को निभाने में पूरी तरह से फेल साबित हुई है। नैतिकता के आधार पर भाजपा को नगर निगम से इस्तीफा दे देना चाहिए।

रिपोर्ट सोर्स, पीटीआई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here