नई दिल्लीः  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि राजधानी के लोगों की कोशिशों से हम यहां कोरोना की तीसरी लहर से प्रभावकारी तरीके से पार पाने में सफल हुए हैं। केजरीवाल ने आज दिल्ली में कोरोना की ताजा स्थिति पर मुखातिब होते हुए कहा नवम्बर में एक समय ऐसा था जब 100 लोगों की जांच की जाती थी तो 15.6 प्रतिशत लोग कोरोना संक्रमित निकलते थे, आज यह आंकड़ा घटकर महज 1.3 प्रतिशत पर आ गया है। आज जो रिपोर्ट आई है, उसमें 87 हज़ार जांच में से केवल 1133 लोग संक्रमित आए हैं।

उन्होंने कहा,” दिल्ली के लोगों की कोशिशों से हम यहां कोरोना की तीसरी लहर से प्रभावकारी तरीके से पार पाने सफल हुए हैं। ऐसा माना जा रहा है कि दिल्ली में अब कोरोना की तीसरी लहर समाप्त हो गई है। रोजाना करीब 90 हजार नमूनों की जांच की जा रही है जो देश के किसी भी राज्य में सर्वाधिक है।”

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब न्यूयॉर्क में एक दिन में 6300 कोरोना मामले आए थे, उस समय वहाँ के अस्पतालों में अफरा तफरी का माहौल था , लेकिन दिल्ली में 8600 मामले आने के बाद भी ऐसा कोई माहौल नहीं था। उस दिन हमारे पास 7000 बेड्स खाली थे। ये सब दिल्ली के बेहतर कोविड प्रबंधन का नतीजा था। उन्होंने कहा आज दिल्ली में प्रतिदिन 4500 जांच प्रति दस लाख की जा रही है। वहीं उत्तर प्रदेश में यह 670 तो गुजरात में हर दिन 800 ही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली ने पूरी दुनिया को कोरोना से लड़ने के लिए नई तकनीक और नए तरीके दिए है। प्लाज्मा थेरपी, होम आइसोलेशन और कोरोना योद्धाओं के शहीद होने पर उनके परिवार को एक करोड़ की राशि इसी के कुछ उदाहरण है। उन्होंने कहा, ” मैं आज दिल्ली के सभी लोगों को और कोरोना योद्धाओं को धन्यवाद देता हूँ। साथ ही सभी धार्मिक, सामाजिक और सरकारी संस्थानों का भी सहयोग के लिए धन्यवाद करता हूँ। अभी भी लड़ाई खत्म नही हुई है। जब तक कोरोना की दवाई नही आती, हम सभी को सावधानी बरतनी होगी।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here