नई दिल्ली : विधायक राघव चड्ढ़ा ने आज नारायणा विहार के महर्षि वाल्मीकि मंदिर मार्ग के निर्माण कार्य का उद्घाटन किया। इस मौके पर नारायणा विहार के निवासियों और वॉलेंटियर्स की काफी तादाद में मौजूदगी रही। वाल्मीकि जयंती के मौके पर राघव चड्ढ़ा ने अच्छी क्वालिटी की सड़कों और अच्छे नालों के सिस्टम के महत्व पर बोलते हुए कहा कि इन आधारभूत सुविधाओं का हक हर नागरिक को है।

उन्होंने कहा कि, “पिछले साल, वाल्मीकि जयंती पर अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि उनका और बाबा साहब अंबेडकर जी का सपना एक ही है, उन्होंने कहा था कि दलित समाज को मजबूत करने का सबसे अच्छा जरिया है अच्छी शिक्षा। मेरे लिए ये गर्व की बात है कि मैं ऐसी पार्टी से जुड़ा हुआ हूं जो शिक्षा के साथ अच्छी सड़क और नाले के अधिकार पर भी ध्यान देती है। नारायणा विहार के वाल्मीकि मंदिर में अपने चुने हुए प्रतिनिधि को सुनने के लिए काफी तादाद में स्थानीय लोग इकट्ठे हुए थे। इस अवसर पर चड्ढ़ा ने कहा कि पिछले 12 साल से नारायणा विहार की इस सड़क पर किसी ने ध्यान नहीं दिया था, ये सड़क चलने योग्य नहीं थी। यहां के स्थानीय लोगों की अपील लगातार अनसुनी की गई थी। चुनाव के पहले लोगों ने मुझसे भी ये सड़क बनवाने की मांग की थी, मुझे आज खुशी हो रही है कि आप सभी के समर्थन से मैं इस निर्माण कार्य का उद्घाटन कर पाया हूं।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

चड्ढ़ा ने कहा कि “मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी का सपना है कि हर इंसान चाहे वो किसी भी समाज से आता हो उसे उसका उचित सम्मान दिया जाए और उस सम्मान में ये भी आता है कि उन्हें चलने के लिए अच्छी सड़क दी जाए। हमने महर्षि वाल्मीकि मंदिर मार्ग के निर्माण के लिए स्पेशल फंड जारी किया अब मुझे भरोसा है कि निर्माण का ये काम निश्चित समयसीमा में पूरा होगा। आमतौर पर ऐसे कामों में वक्त लगता है लेकिन मैंने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिया था कि मुझे इस कार्य को महर्षि वाल्मीकि जयंती के मौके पर 31 अक्टूबर को हर हाल में शुरू करना है और मुझे खुशी है कि उन्होंने इसके लिए जरूरी प्रक्रिया जल्द से जल्द पूरी की।”जैसा कि मैं हमेशा कहता हूं “ये मेरा कर्तव्य है कि मैं उन सभी लोगों की सेवा करूं जिन्होंने मुझे चुना है। महर्षि वाल्मीकि मंदिर मार्ग का निर्माण करके मैं सिर्फ अपना कर्तव्य पूरा कर रहा हूं।”

विधायक ने दिल्ली सरकार की अहम जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना पर भी प्रकाश डाला और कहा कि “जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना योग्य और प्रतिभाशाली बच्चों का सपना पूरा करने के लिए एक शानदार अवसर है और इसके लिए अब उन्हें चिंता करने की जरूरत नहीं है कि उनकी पढ़ाई का खर्च कौन उठाएगा।

इस योजना को साल 2018 में शुरू किया गया था, इसका उद्देश्य SC/ST समुदाय के बच्चों को UPSC, DSSSB, SSC, रेलवे और अन्य प्रतियोगी परिक्षाओं के लिए मुफ्त कोचिंग क्लास मुहैया कराना है। सितंबर 2019 में दिल्ली सरकार के मंत्रिमंडल ने OBC और सामान्य वर्ग के छात्रों को भी इस स्कीम के दायरे में शामिल करने की मंजूरी दी थी। इसके साथ ही प्रतियोगी परिक्षाओं के लिए वित्तीय सहायता की राशि 40 हजार से बढ़ाकर 1 लाख करने को भी मंजूरी दी गई थी। छात्र UPSC, DSSSB, SSC, रेलवे, बैंक और अन्य प्रतियोगी परिक्षाओं के साथ मेडिकल और इंजीनियरिंग की तैयारी में इस स्कीम का लाभ उठा सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here