अरविंद केजरीवाल ने छत्रसाल स्टेडियम में दिल्ली सरकार के निःशुल्क ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर की शुरुआत की

नई दिल्ली, 29 मई, 2021
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने छत्रसाल स्टेडियम में दिल्ली सरकार के निःशुल्क ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर की शुरुआत की। सीएम ने कहा कि यहां फिलहाल 45 वर्ष से उपर के लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। दिल्ली को वैक्सीन की सप्लाई बढ़ेगी, तो हम युवाओं को भी लगाएंगे। दिल्ली सरकार द्वारा बनाए इस निःशुल्क ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर की व्यवस्थाओं से लोग बेहद खुश हैं। सीएम ने कहा कि वैक्सीन पाने के लिए हमारी कोशिशें जारी हैं। इसके लिए दिल्ली सरकार ने ग्लोबल टेंडर भी किया है। दुनिया भर की वैक्सीन उत्पादक कंपनियां सीधे केंद्र सरकार से बात कर रही हैं। अलग-अलग राज्य सरकारें वैक्सीन पाने में कितनी सफल होंगी, यह समय बताएगा।

अभी 45 साल से नीचे उम्र वालों के लिए वैक्सीन नहीं है, वैक्सीन के आते ही, इनके लिए भी सेंटर खोले जाएंगे- अरविंद केजरीवाल

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

सीएम अरविंद केजरीवाल ने आज छत्रसाल स्टेडियम में 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर की शुरुआत की। इस दौरान सीएम ने कहा कि छत्रसाल स्टेडियम में दिल्ली सरकार की तरफ से ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर शुरू किया जा रहा है। यहां पर लोग पैदल, अपनी गाड़ी में या मोटरसाइकिल से आकर वैक्सीनेशन करा सकते हैं। यहां वैक्सीनेशन बिल्कुल मुफ्त है। अभी यहां फिलहाल 45 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए शुरू किया गया है, क्योंकि 45 साल से कम उम्र के लोगों के लिए अभी हमारे पास वैक्सीन नहीं है। जैसे ही वैक्सीन आएगी, 45 से नीचे उम्र वालों के लिए भी वैक्सीनेशन शुरू किया जाएगा। जिन लोगों ने यहां वैक्सीन लगवाई है, उनसे मैंने बात की है। लोग यहां की व्यवस्था से बहुत खुश हैं।

दुनिया भर की वैक्सीन उत्पादक कंपनियां सीधे केंद्र सरकार से बात कर रही हैं, अलग-अलग राज्य सरकारें कितनी सफल होंगी, यह समय बताएगा- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने वैक्सीन को लेकर कहा कि दिल्ली सरकार ने वैक्सीन के लिए ग्लोबल टेंडर कर दिया है। वैक्सीन के लिए हमारी तरफ से सारी कोशिशें जारी हैं, लेकिन अभी तक जितनी भी दूसरी राज्य सरकारों ने ग्लोबल टेंडर किए थे, उनके नतीजे बहुत ज्यादा उत्साहवर्धक नहीं आए हैं। हमने भी इस उम्मीद पर ग्लोबल टेंडर किया है कि अगर कोई कंपनी आएगी, तो बहुत अच्छी बात है। लेकिन मोटे तौर पर मैं समझता हूं कि दुनिया भर में जितनी भी बड़ी-बड़ी वैक्सीन उत्पादक कंपनियां हैं, वह सीधे केंद्र सरकार से बात करना चाहती हैं और केंद्र सरकार से ही बात कर रही हैं। वैक्सीन पाने में अलग-अलग राज्य सरकारें कितनी सफल होंगी, यह तो समय बताएगा, लेकिन अपनी तरफ से हमने ग्लोबल टैंडर कर दिया है।

आने वाले हफ्तों में जैसे-जैसे केस कम होते जाएंगे, हम और गतिविधियों को खोलेंगे – अरविंद केजरीवाल

लाॅकडाउन खोलने के संबंध में सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कल हमने घोषणा की थी कि निर्माण गतिविधियां और इंडस्ट्री खुल सकती हैं। क्योंकि सबसे गरीब तबका यहीं पर काम करता है। लाॅकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा गरीब लोगों को ही दिक्कत होती है। आने वाले हफ्तों में जैसे-जैसे केस कम होते जाएंगे, हम धीरे-धीरे और गतिविधियों को खोलेंगे। दिल्ली में पिछले 24 घंटे में करीब 900 केस आए हैं। दिल्ली में पहली बार एक हजार से कम केस आए हैं। मैं उम्मीद करता हूं कि जैसे-जैसे केस कम होंगे, हम और अनलाॅक करते जाएंगे। हम चाहते हैं कि आर्थिक गतिविधियां वापस पटरी पर आएं, ताकि अर्थव्यवस्था मजबूत हो सके। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जैसे-जैसे कोरोना की स्थिति सुधार रही है, मजदूर वापस दिल्ली वापस लौट रहे हैं।

ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर पर लोगों के लिए की गई है उच्च स्तरीय सुविधाओं की व्यवस्था

दिल्ली सरकार के विभिन्न डिस्पेंसरी, अस्पतालों और स्कूलों में वैक्सीनेशन पहले से ही किया जा रहा है। यह देखा गया है कि कुछ लोग संक्रमण के डर से वैक्सीनेशन के लिए अस्पतालों, डिस्पेंसरी और स्कूलों में जाने से हिचकिचा रहे हैं। ड्राइव-थ्रू वैक्सीनेशन ऐसे लोगों को अन्य व्यक्तियों के संपर्क में आए बिना वैक्सीनेशन कराने का विकल्प प्रदान करेगा। इससे लोगों में विश्वास बढ़ेगा और अधिक से अधिक लोग इस सुविधा का उपयोग करेंगे।
प्रारंभ में, को-विन पोर्टल पर स्लॉट की प्री-बुकिंग के बाद केवल 45 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों को पहली खुराक कोविशील्ड वैक्सीन का टीका लगाया जाएगा। लोग स्टेडियम में अपने वाहनों में आ सकते हैं और बिना बाहर निकले टीका लगवा सकते हैं। उन्हें अपने वाहनों में केवल पार्किंग क्षेत्र में 30 मिनट तक प्रतीक्षा करना होगा।


यदि पार्किंग में प्रतीक्षा कर रहे किसी व्यक्ति को कोई समस्या हो, तो वह हॉर्न बजाकर या पार्किंग लाइट चालू करके निकटतम स्वयंसेवक से संपर्क कर सकता है। इसके लिए पर्याप्त संख्या में सीडीवीएस आदि तैनात किए गए हैं।
वैक्सीनेशन (एईएफआई) के बाद किसी भी प्रतिकूल घटना से निपटने के लिए हमेशा एक डॉक्टर मौजूद रहेगा। किसी भी एआईएफआई के मामले के लिए बीजेआरएम अस्पताल एईएफआई प्रबंधन केंद्र है। जरूरत पड़ने पर मरीज को एईएफआई प्रबंधन केंद्र तक पहुंचाने के लिए छत्रसाल स्टेडियम में कैट्स एम्बुलेंस तैनात की जाएगी।
हम स्टेडियम में एक दिन में 400 लोगों का वैक्सीनेशन कर सकते हैं। आज हमने केवल 200 लाभार्थियों के लिए स्लॉट बुक किया है। इसे आने वाले दिनों में प्रति दिन 400 लाभार्थियों तक बढ़ाया जाएगा। लोगों के लिए पानी व नीबू पानी की व्यवस्था की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here