कैबिनेट मंत्री राजेंद्र पाल गौतम के आवास पर धूमधाम से मनाई गई बाबा साहब डाॅ. अंबेडकर की जयंती

  • कोरोना संक्रमण के बचाव के नियमों का पालन करते हुए मनाई गई डाॅ. अंबेडकर की जयंती
  • केंद्र की सत्ता में बैठी ताकत संविधान के विरोध में काम कर रही हैं, संविधान को बचाना हमारा परम उद्देश्य है- राजेंद्र पाल गौतम
  • – बाबा साहब ने बहुत मेहनत और संघर्षों के बाद हमें अधिकार दिलवाया है, इन्हें बचाए रखना हमारी जिम्मेदारी- राजेंद्र पाल गौतम

नई दिल्ली, 14 अप्रैल 2021
बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर की 130वीं जयंती के अवसर पर दिल्ली में अंबेडकर जयंती समारोह का आयोजन किया गया। कोविड नियमों को ध्यान में रखते हुए दिल्ली सरकार के कैबिनेट मंत्री और मिशन जय भीम के राष्ट्रीय संरक्षक राजेंद्र पाल गौतम की अध्यक्षता में उनके निवास स्थान पर बाबा साहब की जयंती समारोह आयोजित की गई।

कार्यक्रम की विधिवत शुरुआत तथागत बुद्ध, बाबा साहब, ज्योतिबा फुले और मान्यवर कांशीराम के चित्र पर माल्यार्पण कर हुई। मिशन जय भीम के राष्ट्रीय संरक्षक राजेंद्र पाल गौतम ने तथागत बुद्ध, बाबा साहब, महर्षि वाल्मीकि और संत शिरोमणि गुरु रविदास की प्रतिमाओं का अनावरण करके माल्यार्पण किया। सफेद और नीले गुब्बारों से सजे समारोह स्थल में एक-एक कर सभी वक्ताओं ने बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के महान जीवन संघर्षों से लोगों को अवगत कराया और वर्तमान परिदृश्य में बाबा साहब की बढ़ती प्रसंगिकता को रेखांकित किया। सभी वक्ताओं ने एक स्वर से माना कि इस देश के दलित, पिछड़े, अल्पसंख्यक और महिलाओं के साथ-साथ देश का प्रत्येक व्यक्ति सदा बाबा साहब का आभारी रहेगा, जिनकी विद्वत्ता और दूरदर्शिता की वजह से भारत आज इस मुकाम तक पहुंचा है। वक्ताओं ने कहा कि बाबा साहब केवल एक कौम या समुदाय के नेता नहीं, बल्कि उन्होंने आधुनिक भारत के निर्माण के लिए विभिन्न संस्थानों और योजनाओं के लिए अपनी कलम से आधारशिला प्रदान की और इसीलिए आज बाबा साहब को एक विश्व विद्वान की उपाधि हासिल हुई है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App


अपने अध्यक्षीय भाषण में कैबिनेट मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने कहा कि देश के हालात ठीक नहीं है, क्योंकि सत्ता में बैठी ताकतें संविधान के विरोध में काम कर रही हैं। उन्होंने कहा कि देशभक्ति का असल अर्थ यह है कि हम अपने बच्चों को अच्छी से अच्छी शिक्षा दिलवाएं।
गौतम ने कहा कि संवैधानिक पदों पर बैठे नेताओं को अपनी सामाजिक जिम्मेदारी का निर्वहन करना होगा। उन्होंने कहा कि बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने जो भारत के बहुसंख्यक समुदाय को आजादी दिलाई थी, क्या वह आज बरकरार है? राजेंद्र पाल गौतम ने कहा कि आज भी गांव-देहात में बेटियों के इज्जत के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों के नौकरी के रास्ते बंद किए जा रहे हैं, जो एक चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों को फिर से गुलाम बनाने के प्रयास दबे पांव किए जा रहे हैं। गौतम ने सभी का आह्वान करते हुए कहा कि बाबा साहब की जयंती के अवसर पर हम सबको मिलकर यह संकल्प लेना होगा कि हम किसी भी हालत में इस गुलामी को स्वीकार नहीं करेंगे और संविधान में दिए अपने सभी अधिकारों को बचाने के लिए अपनी जान की बाजी लगा देंगे।
इस अवसर पर मंत्री राजेंद्र पाल गौतम के अलावा मिशन जय भीम के राष्ट्रीय एवं दिल्ली प्रदेश के पदाधिकारियों के साथ सफाई कर्मचारी आयोग के अध्यक्ष संजय गहलोत भी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here