कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए ठाकुर द्वारा विद्यालय की पहल,अध्ययनरत छात्राओं को मिलेगी निःशुल्क शिक्षा

ग़ाज़ियाबाद
कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने देश में कहर मचाया हुआ है। देश में अब तक लाखों लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है। अनगिनत बच्चे इस कोरोना काल में अपने माँ-बाप में से किसी एक को या फिर दोनों को ही खो चुके हैं। ऐसे ही बच्चों की मदद के लिए ठाकुर द्वारा बालिका विद्यालय ने सराहनीय पहल की है।
विद्यालय के प्रबन्धक अजय कुमार गोयल ने बताया प्रबन्धन ने निर्णय लिया है कि ठाकुर द्वारा बालिका विद्यालय में पढ़ने वाली किसी छात्रा के माँ-बाप या इनमें से किसी एक की कोरोना से मृत्यु हो चुकी है तो उस छात्रा को 12वीं तक निःशुल्क शिक्षा दी जाएगी। जो पीड़ित छात्रा जिस कक्षा में पढ़ रही है,उससे उस कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा तक विद्यालय में किसी भी प्रकार का शुल्क नही लिया जायेगा। यदि कोई विशेष परिस्थिति है तो छात्रा के लिए पुस्तक एवं ड्रेस आदि की भी व्यवस्था की जाएगी।
जो भी छात्रा इस परिस्थिति का शिकार है, वह सहायता प्राप्त करने के लिए मृत्यु प्रमाणपत्र सहित एक प्रार्थना पत्र स्कूल प्रबन्धक अजय कुमार गोयल अथवा प्रधानाचार्य पूनम शर्मा को सुबह 11 बजे से 2 बजे तक दे सकती है।


इस बारे में विद्यालय की प्रधानाचार्य पूनम शर्मा ने बताया कि हम विद्यालय की छात्राएं के लिए सिर्फ शिक्षक ही नही बल्कि अभिभावक की तरह भी हैं। स्कूल की छात्रायें हमारे परिवार का हिस्सा हैं। कोरोना की इस घड़ी में जिन्होंने अपनों को खोया है,उनकी मानसिक एवं आर्थिक स्थिति को हम समझ सकते हैं। इसलिये स्कूल प्रबन्धन ने ऐसी छात्राओं को निःशुल्क शिक्षा की व्यवस्था करके,उनकी सहायता का एक छोटा सा प्रयास किया है। इसके अलावा कोरोना की पिछली लहर में जब सभी स्कूल फीस वसूली के लिए तरह-तरह के प्रयास कर रहे थे तब भी हमने काफ़ी बच्चों की फीस माफ़ करके मदद की थी।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here