झारखंड में मुस्लिम छात्रों से भेदभाव पर शाहीन एजुकेशनल एंड रिसर्च फाउंडेशन ने जैक व मुख्यमंत्री से सख़्त करवाई की मांग की

रांची
झारखंड के तीन सरकारी संस्कृत विद्यालयों में मुस्लिम छात्रों के एडमिशन की मनाही पर शाहीन एजुकेशनल एंड रिसर्च फाउंडेशन के सीईओ इंजीनियर अफ्फान नोमानी ने कड़ी निंदा करते हुए कहा कि चाईबासा, चक्रधरपुर और सरायकेला-खरसावां के मान्यता प्राप्त तीनों संस्कृत स्कूलों में मुस्लिम छात्रों से भेदभाव अफ़सोसजनक है। पिछले वर्ष इन तीन स्कूलाें में दसवीं में नामांकित बच्चाें की संख्या करीब 3500 थी। जिसमें 435 से अधिक मुस्लिम बच्चे थे। ये छात्र परीक्षा में शामिल हाेकर पास भी हुए। इस बार इन तीनों जगहों (चाईबासा, चक्रधरपुर और सरायकेला-खरसावां) के संस्कृत विद्यालयों में मुस्लिम बच्चाें को एडमिशन देने से मना किया गया है। शाहीन एजुकेशनल एंड रिसर्च फाउंडेशन झारखंड अधिविद्य परिषद (जैक) व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से शिक्षा को लेकर धर्म की दीवार खड़ी करने वालों के खिलाफ़ सख़्त करवाई की मांग करता है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here