प्रतीकात्मक चित्र

दनकौर में दूसरे समुदाय के युवकों ने मस्जिद में घुसकर इमाम को पीटा

ग्रेटर नोएडा
ग्रेटर नोएडा के दनकौर के गाँव रामपुर माजरा में अज्ञात लोगों के एक गिरोह ने शनिवार रात मस्जिद में घुसकर इमाम और अन्य लोगों पर हमला कर दिया। हमले में इमाम एवं एक अन्य युवक घायल हो गये। घटना रात करीब साढ़े आठ बजे की बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि एक समुदाय के युवक की दूसरे समुदाय की महिला के साथ कहासुनी होने के कारण यह हमला किया गया। पुलिस ने अज्ञात व्यक्तियों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज़ करके जाँच शुरू कर दी है।

वारदात में घायल हुए व्यक्तियों के एक रिश्तेदार और स्थानीय निवासी रईसुद्दीन ने बताया कि उनके समुदाय के एक युवक की शुक्रवार को दूसरे समुदाय की एक महिला के साथ बहस हुई थी। उन्होंने कहा कि महिला ने घर जाकर अपने परिवार को मामले की जानकारी दी, जिसके बाद उसके परिजन रविवार को सुबह करीब 10 बजे कथित तौर पर एक मुस्लिम इलाके में गए और उन्हें ‘उन्हें सबक सिखाने’ की धमकी दी।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

रईसुद्दीन ने आरोप लगाया कि रात में ईशा की नमाज़ के समय करीब साढ़े आठ बजे उन्होंने हमले को अंजाम दिया। हमलावरों ने मस्जिद में नमाज़ अदा कर रहे इमाम नासिर मुहम्मद और मेरे रिश्तेदार फतेह मोहम्मद को घायल कर दिया। उन्होंने कहा कि दोनों समुदायों के कथित तौर पर आपस में मतभेद हैं। जबकि इमाम साहब और उनके रिश्तेदार का युवक से कोई संबंध नहीं है। उनके समुदाय का युवक होने के कारण ही मस्जिद में घुस कर हमला किया गया।

उन्होंने बताया कि नासिर के सिर में गंभीर चोटें आईं, जबकि फतेह की कमर में चोटें आई हैं, दोनों को ग्रेटर नोएडा के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। स्थानीय निवासियों ने कहा कि जिस युवक के साथ महिला की कहासुनी हुई वह युवक गांव से भाग गया है। इस मामले में स्थानीय निवासी शफी मोहम्मद ने शिकायत दर्ज कराई थी।

दनकौर थाना प्रभारी अरविंद पाठक ने कहा कि प्राथमिक जांच से पता चलता है कि युवक ने गांव की एक महिला को कथित तौर पर प्रताड़ित किया। महिला ने अपने परिवार को सूचित किया। जिन्होंने शनिवार रात मस्जिद में कुछ लोगों पर हमला किया।

अरविंद पाठक ने कहा कि हमने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ धारा 147 (दंगा), धारा 336 (दूसरों के जीवन या व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालने वाला कार्य), धारा 295 (किसी भी वर्ग के धर्म का अपमान करने के इरादे से पूजा स्थल को चोट पहुँचाना या अपवित्र करना), धारा के तहत मामला दर्ज किया है। भारतीय दंड संहिता की धारा 296 (धार्मिक सभा को परेशान करना), ” कानून-व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए पुलिस टीमों को तैनात किया गया है और संदिग्धों की तलाश की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here