नरेंद्र मोदी के सशक्त नेतृत्व में मजबूती से कोरोना से मुकाबला कर रहा है देश: इरफान अहमद

लखनऊ
भाजपा के वरिष्ठ नेता इरफान अहमद ने हिंदुस्तान के विपक्षियों को करारा जवाब देते हुए अपने बयान में कहा है कि दुनिया में स्वास्थ्य व्यवस्था में नम्बर 2 कहे जाने वाला देश इटली ने पिछली लहर में ही असहाय होकर अपने देश के लोगों को सड़कों पर मरने के लिये छोड़ दिया था, लेकिन 140वें स्थान पर रहे हिंदुस्तान ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में वैश्विक महामारी का मुकाबला किया। उन देशों से अच्छी तरह देश की स्वास्थ्य व्यवस्था को मजबूत किया। मात्र दो सप्ताह बहुत खराब बीते पर उसके बाद सब कुछ संभल गया। बड़े ही दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि विपक्षी पार्टियों ने इस वैश्विक महामारी कोरोना में देश की भोली-भाली जनता को बरगलाया और वैक्सीन को लेकर भ्रांति फैलाई, जिससे देश के लोगों में डर पैदा हुआ। लेकिन सरकार ने हार नहीं मानी और स्वास्थ्य सेवाओं को दुरुस्त किया। आम जनता के बीच जाकर सरकार के सभी मंत्रियों व सभी भाजपा कार्यकर्ताओं ने लोगों को जाकर समझाया। अब लोग स्वयं अपने अपने घरों से बाहर निकल कर टीकाकरण करा रहे हैं। यह देश का दुर्भाग्य है कि जहाँ हिंदुस्तान के वैज्ञानिकों ने दिन रात एक करके कोरोना वैक्सीन बनाकर दुनिया में हिंदुस्तान का स्वाभिमान बढ़ाया,वहीं विपक्षी पार्टियां अभी भी वैक्सीन को लेकर दुष्प्रचार कर रही हैं।
इस बीच लोग कालाबाजारी करते हुए भी नज़र आए। चाहे ऑक्सीजन सिलेंडर हो या इंजेक्शन या दवाइयां हो यह सब हिंदुस्तान के लिए दुखद समाचार था। लेकिन राज्य सरकारों ने कालाबाजारी करने वालों के ऊपर सख्त कार्रवाई की। आज मोदी के नेतृत्व में प्रत्येक राज्य ने अपने सरकारी या गैर सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट शुरू करा दिए गए हैं। जिससे कि अब हिंदुस्तान पूर्णत: वैश्विक महामारी कोरोना पर विजय प्राप्त करने में सफल हुआ है। सन 1947 से 2019 तक जिस देश में केवल 48000 वेंटिलेटर थे, लेकिन प्रधानमंत्री आपदा कोष (पीएम केयर फंड) द्वारा प्रत्येक राज्यों को हजारों वेंटिलेटर दिए गए। अब देश में ब्लैक फंगस ने दस्तक दी है लेकिन हमारे वैज्ञानिक और डॉक्टर इस पर आसानी से काबू पा लेंगे।
इरफ़ान अहमद ने कहा कि आप लोग प्रश्न उठाते फिर रहे हैं कि ब्लैक मार्केटिंग रोकना तो सरकार का काम है। बहुत अच्छा तर्क है यानी आपकी कोई जिम्मेदारी नहीं है। जब देश में आपातकालीन परिस्थिति है तब सरकार अपने अधिकतम मैन पॉवर का प्रयोग लॉकडाउन ठीक से रहे उसे भी प्रयोग में लाए, आपसे मास्क लगवाये, लाश भी जलवाये, गृहयुद्ध कराने के प्रयास में लगी ताकतों को कुचल कर शान्ति व्यवस्था भी कायम रखे। आज भी इस वैश्विक महामारी से हिंदुस्तान युद्ध स्तर पर लड़ रहा है। लेकिन विपक्षी पार्टियां किसान आंदोलन की आड़ में अपनी राजनीतिक जमीन तलाश रही है और भोले भाले किसानों को बरगला कर अपना राजनीतिक स्वार्थ साधने की भरपूर कोशिश कर रही हैं। मैं मोदी सरकार का और भाजपा शासित राज्यों का तहे दिल से शुक्रिया अदा करता हूँ, जिन्होंने अपने-अपने राज्यों में युद्ध स्तर पर कोरोना महामारी से लड़कर अपने आप को सुरक्षित व आत्मनिर्भर बनाए रखने का प्रयास किया है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here