पत्रकार विकास फाउंडेशन का एक प्रतिनिधिमंडल जल्द ही राज्यपाल से मुलाकात करेगा

  • प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पत्रकारों की समस्याओं के समाधान का प्रयास

मुंबई
आज की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में जहां हर कोई अपने ही सोच के दायरे में है, दूसरो को समस्या से किसी को कोई लेना देना नही है,इन हालात मे प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकार के भी बहुत सारी समस्याएं हैं इन कि परेशानियों को कोई भी नही समझता। जो दिन-रात खबरों के लिए दौड़ते हैं। उन्हें भी कई समस्याएं हैं लेकिन नहीं उनकी समस्याओं पर कोई ध्यान नहीं देता है। इन परिस्थितियों में, विभिन्न भाषा प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकारों के साथ पत्रकार विकास फाउंडेशन का गठन किया गया था। सरफराज आरज़ू हिंदुस्तान डेली के मालिक और संपादक के नेतृत्व में और मुहम्मद यूसुफ राणा कवि और पत्रकार (उर्दू टाइम्स) को अध्यक्ष बनाया गया हैं। पत्रकार विकास फाउंडेशन की मिटिंग नागपाडा जंक्शन पर डेली हिंदुस्तान की ऑफिस पर वरिष्ठ पत्रकार फारूक अंसारी (संपादक उर्दू टाइम्स) कि अध्यक्षता में हुई। शुरुआत में मुहम्मद यूसुफ राणा ने बैठक के उद्देश्यों और उद्देश्यों के बताया और कहा कि आज की बैठक 7 महत्वपूर्ण बिंदुओं पर आधारित है जिसमें पत्रकारों के बच्चे स्कॉलरशिप ,पत्रकारों की सुविधा के लिए प्रत्येक छात्रवृत्ति, संभावित प्रयास, पत्रकारों के लिए स्वास्थ्य बीमा, पत्रकारों के आवास के लिए पत्रकार कॉलोनी , सरकार की ओर से पत्रकारों को पुरस्कार , नए पत्रकारों के लिए प्रशिक्षण पाठ्यक्रम और उनकी प्रतिभा को उजागर करना यह सब काम पत्रकार विकास फाउंडेशन करोगी
उर्दू गगन मैगजीन के संपादक मुशीर अंसारी ने अपनी बहुमूल्य राय देते हुए कहा कि सबसे पहले नींव को मजबूत किया जाना चाहिए।मौलाना अब्दुल सलाम खान कासमी ने कहा कि पहले ऐसा कार्यालय हो जहां पत्रकार बैठ सकें, फिर समस्याओं पर चर्चा की जा सके और उनके समाधान का मार्ग प्रशस्त किया जा सके। अध्यक्ष फारूक अंसारी ने कहा कि पहले वित्तीय संसाधन मांगे जाएं क्योंकि इसके बिना फाउंडेशन नहीं बन पाएगा. कोई भी काम करने के लिए और किसी भी राजनीतिक नेता से फंड के लिए संपर्क नहीं किया जाना चाहिए, लेकिन जो गैर-राजनीतिक हैं लेकिन विज्ञान और साहित्य में रुचि रखते हैं। इसी तरह का सुझाव दिया गया था कि परती सदस्य से प्रति वर्ष कम से कम एक हजार रुपये फीस लिया जाना चाहिए। एक सदस्य से शुल्क लिया जाना । वरिष्ट पत्रकार हारून अफरोज ने कहा के यह एक अच्छा प्रयास है, लेकिन इसके लिए दृढ़ता की आवश्यकता है। अगर हम कड़ी मेहनत करते हैं, तो हम सफल होंगे।” इस मीटिंग में श्फ़ाकत उस्मानी, शाहिद अंसारी, सत्य प्रकाश तिवारी, सुलेमान खान, शबाना दरबार, फरजाना शेख, अनवर हुसैन, शिराज भाई, अंसारी अब्दुल्ला, प्रोफेसर नईमी, शहजाद अख्तर और अन्य ने भी अपनी उपयोगी सलाह दी। अध्यक्ष युसूफ राना ने बताया के जल्द ही महाराष्ट्र के राज्यपाल से मुलाकात की तारीख के बारे जानकारी लेकर सूचित करेंगे। अगली बैठक 10 जुलाई 2021 को होगी I

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here