मुख्यमंत्री ने श्रावण मास में भगवान शिव के भक्तों की पवित्र कांवड़ यात्रा-2021 की तैयारियों और सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की


मुह़म्मद अशरफ़
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रावण मास में भगवान शिव के भक्तों की पवित्र कांवड़ यात्रा-2021 की तैयारियों और सुरक्षा व्यवस्था की आज समीक्षा की। उन्होंने कहा कि श्रावण मास 25 जुलाई, 2021 से प्रारम्भ हो रहा है। इसके दृष्टिगत प्रदेश के विभिन्न जनपदों व मार्गों पर श्रद्धालुगण द्वारा निकाली जाने वाली कांवड़ यात्राओं के सम्बन्ध में सभी तैयारियां समय से सुनिश्चित कर ली जाएं। इन यात्राओं में कोविड प्रोटोकॉल का पूर्ण पालन सुनिश्चित हो। कांवड़ यात्राओं के सुरक्षित, सकुशल एवं सफल संचालन के सम्बन्ध में किसी भी प्रकार की कोताही न हो। उन्होंने कहा कि श्रावण मास के प्रारम्भ होने के पूर्व बकरीद का भी त्यौहार पड़ रहा है। इसके दृष्टिगत सतर्कता और सावधानी आवश्यक है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड प्रोटोकॉल के दृष्टिगत प्रत्येक स्तर पर कांवड़ संघों से संवाद स्थापित किया जाए। अनावश्यक भीड़ न एकत्र हो। कोविड के सम्बन्ध में सतर्कता व सावधानी के सभी उपाय सुनिश्चित किए जाएं। उन्होंने कहा कि कोविड की सेकेण्ड वेव पर नियंत्रण हुआ है, किन्तु सावधानी हर स्तर पर बरतना आवश्यक है। उन्होंने जन-भावनाओं और आस्था का सम्मान करते हुए कोविड प्रोटोकॉल के नियमों का पालन किए जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि कोविड के दृष्टिगत कोविड हेल्प डेस्क, कोविड केयर सेण्टर, एम्बुलेंस सेवा, हॉस्पिटल में आरक्षित बेड आदि उपलब्ध रहें। इन्फ्रारेड थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर, सैनिटाइजर की भी व्यवस्थाएं कांवड़ यात्रियों व यात्राओं के सम्बन्ध में की जाएं।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी शिव मंदिरों, शिवालयों, देव मंदिरों, यात्रा मार्गों सहित ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए। यात्रा मार्गों पर स्ट्रीट लाइट सुनिश्चित की जाए। इन मार्गों पर बिजली के तार झूलते हुए न मिलें। यातायात व्यवस्था को बेहतर तरीके से मैनेज किया जाए। संवेदनशील स्थलों के सम्बन्ध में पूर्व तैयारी सुनिश्चित करते हुए चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था रखी जाए। शिवालयों, कावंड़ यात्रियों के लंगर स्थलों, विश्रामालयों आदि स्थलों पर भी विशेष सतर्कता रखी जाए। सड़क व नदी आदि में होने वाली दुर्घटनाओं के सम्बन्ध में भी तैयारी कर ली जाए। शिवालयों और शिव मंदिरों में भी प्रकाश सहित उत्कृष्ट व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं, जिससे कांवड़ यात्री मंदिर पहुंचकर जलाभिषेक कर सकें। विद्युत आपूर्ति और पेयजल सहित यात्रियों के लिए जन-सुविधाओं की भी उपलब्धता रहे।

मुख्यमंत्री ने धार्मिक तथा स्वयंसेवी संस्थाओं व संगठनों से समन्वय व संवाद स्थापित करते हुए कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सौहार्द व शांतिपूर्ण वातावरण में कार्यक्रम सम्पन्न किए जाएं। मुख्यमंत्री जी ने इस अवसर पर सभी मण्डलायुक्तों और पुलिस जोन के वरिष्ठ अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद किया और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने मण्डलायुक्तों तथा पुलिस जोन के अधिकारियों को जनपद तथा रेंज स्तर पर तैयारियों व सतर्कता के सम्बन्ध में बैठकें किए जाने के भी निर्देश दिए।

इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक श्री मुकुल गोयल, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना श्री संजय प्रसाद सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here