सीएम अरविंद केजरीवाल ने भारत के प्रमुख उद्योगपतियों को पत्र लिखकर कोविड से मुकाबला करने में उनकी मदद मांगी

  • दिल्ली में ऑक्सीजन का उत्पादन नहीं होता है और जैसा कि आप जानते हैं, दिल्ली में मौजूदा समय में ऑक्सीजन की भारी कमी है, यदि आप दिल्ली सरकार को इस समय क्रायोजेनिक टैंकरों के साथ ऑक्सीजन प्रदान कर सकते हैं, तो मैं आभारी रहूंगा- अरविंद केजरीवाल
  • सीएम अरविंद केजरीवाल ने भारत के सबसे प्रमुख उद्योगपतियों को लिखे अपने पत्र में लिखा है कि दिल्ली में कोविड मामलों में अभूतपूर्व वृद्धि के कारण हमारी आवश्यकताओं से काफी कम ऑक्सीजन मिल पा रहा है
  • हमें अपनी ऑक्सीजन की जरूरतों को पूरा करने में केन्द्र सरकार से मदद मिली है, लेकिन कोरोना की तिव्रता में यह अपर्याप्त है, कृपया इसे एसओएस समझें- अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली, 25 अप्रैल, 2021
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को भारत के सबसे प्रमुख उद्योगपतियों को पत्र लिखकर देश में भयावह कोविड-19 का मुकाबला करने में उनकी मदद मांगी है। मुख्यमंत्री ने पत्र में लिखा है कि यदि प्रमुख उद्योगपति, ऑक्सीजन का उपयोग या उत्पादन करने में शामिल हैं और क्रायोजेनिक टैंकरों में ऑक्सीजन पहुंचाने में मदद कर सकते हैं, तो इस समय दिल्ली की मदद करने के लिए वे उनका अभारी रहेंगे। उन्होंने पत्र में लिखा है कि दिल्ली में कोविड मामलों में अभूतपूर्व वृद्धि के कारण हमारी आवश्यकताओं से काफी कम ऑक्सीजन मिल पा रहा है। सीएम ने इसे एसओएस के रूप में लेने का अनुरोध किया है। सीएम ने पत्र में लिखा है कि दिल्ली में ऑक्सीजन का उत्पादन नहीं होता है और दिल्ली को मौजूदा समय में ऑक्सीजन की भारी कमी का सामना करना पड़ता है। उन्होंने आगे लिखा है कि केंद्र सरकार इस संबंध में दिल्ली की मदद कर रही है, लेकिन कोरोना के प्रसार की तीव्रता इतनी गंभीर है कि इसकी मात्रा अपर्याप्त साबित हो रही है।
सीएम अरविंद केजरीवाल ने पत्र में लिखा है, ‘‘जैसा कि आप जानते हैं कि दिल्ली में ऑक्सीजन की भारी कमी है। दिल्ली में ऑक्सीजन का उत्पादन नहीं होता है। पिछले कुछ दिनों में कोविड मामलों में अभूतपूर्व वृद्धि के कारण दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी किल्लत हो रही है। दिल्ली में ऑक्सीजन की दैनिक आपूर्ति हमारी आवश्यकताओं से कम है।’’
सीएम ने आगे कहा है कि केंद्र सरकार भी इस संबंध में हमारी मदद कर रही है। हालांकि, कोविड के प्रसार की तीव्रता इतनी गंभीर है कि यह अपर्याप्त साबित हो रहा है।
सीएम अरविंद केजरीवाल ने पत्र में आगे लिखा है, ‘‘मैं समझता हूं कि आपका संगठन या तो ऑक्सीजन का इस्तेमाल करता है या उत्पादन करता है या फिर किसी से लेता है। यदि आप हमें इस समय क्रायोजेनिक टैंकरों के साथ-साथ ऑक्सीजन का कोई भी स्टॉक प्रदान कर सकते हैं, तो मैं इसके लिए आपका आभारी रहूंगा। हम किसी अन्य देश से क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंकरों के आयात में किसी भी मदद का स्वागत करेंगे। कृपया इसे एसओएस समझें। मैं आपके सहयोग के लिए व्यक्तिगत रूप से आभारी रहूंगा।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here