सीतापुर जेल में बन्द सपा सांसद आजम खान हुए कोरोना पॉजिटिव,बेटे अब्दुल्ला की रिपोर्ट नेगेटिव

सीतापुर
पूर्व सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे रामपुर सांसद तथा समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। आज़म खान पिछले एक साल से ज्यादा समय से सीतापुर जेल में बन्द हैं। सीतापुर जेल प्रशासन ने दो दिन पहले ही उनका कोविड टेस्ट कराया था। कोविड टेस्ट रिपोर्ट में आजम खान सहित जेल में 13 बंदी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उनके बेटे अब्दुल्ला आजम खां को एंटीजन की जांच में कोरोना से सुरक्षित पाया गया है।
जेलर आरएस यादव ने बताया कि गुरुवार को जेल में संदिग्ध बंदियों के सैंपल जांचे गए थे। इसमें रामपुर सांसद समेत कुल 14 लोग संक्रमित पाए गए हैं। जेलर ने बताया कि सांसद आजम खान का सैंपल एंटीजन से जांचा गया था, जबकि अन्य 13 बंदियों के सैंपल आरटी पीसीआर की जांच में पॉजिटिव मिले हैं। यहां कुल 14 संक्रमित बंदियों में दो महिला भी शामिल हैं। जेलर ने बताया कि रामपुर सांसद आजम खान अपने बेटे अब्दुल्ला आजम के साथ उच्च सुरक्षा बैरक में निरुद्ध थे। अब आजम खां की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनके बैरक से अब्दुल्ला आजम को अलग कर पड़ोस की बैरक में सुरक्षित किया गया है।
अस्पताल के डॉक्टर अन्य स्वास्थ्य कर्मी आजम के स्वास्थ्य की लगातार निगरानी कर रहे हैं। डॉक्टर पीयूष पांडेय ने बताया कि आजम खां स्वस्थ हैं। उन्हेंं कोई दिक्कत नहीं है। उनके स्वास्थ्य की निगरानी नियमित की जा रही है।


आज़म खान अपनी पत्नी तजीन फातमा तथा पुत्र अब्दुल्लाह के साथ सीतापुर जेल में बन्द थे।
पिछले साल 26 फरवरी 2020 को आजम खान, उनकी पत्नी तजीन फातमा और बेटे अब्दुल्ला आजम ने रामपुर की अदालत में आत्मसमर्पण किया था। तीनों के ऊपर दस्तावेजों में हेराफेरी करके फर्जी पैन कार्ड और पासपोर्ट बनवाने का साल 2019 में मुकदमा दर्ज हुआ था। इस मुकदमे में अदालत द्वारा बार-बार बुलाने के बावजूद वे हाजिर नहीं हो रहे थे। लिहाजा कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी कर दिया। नॉन बेलेवल वारंट जारी होने के बाद तीनों ने अदालत में आत्मसमर्पण किया और जमानत मांगी लेकिन, अदालत ने उन्हें रामपुर की जिला जेल भेज दिया।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App


27 फरवरी को तीनों को सीतापुर जेल में शिफ्ट किया गया। दिसंबर, 2020 में उनकी पत्नी और रामपुर सदर से सपा विधायक तजीन फातमा को जमानत मिल गयी थी। लेकिन आजम खान और अब्दुल्ला आजम को अभी जमामत नही मिली है। आजम के ऊपर 80 से ज्यादा मुकदमें दर्ज हैं, जबकि अब्दुल्ला के ऊपर 40 से ज्यादा केस दर्ज हैं। जानकारी के अनुसार अधिकतर मामलों में उन्हें जमानत मिल चुकी है, अब कुछ मुकदमों में ही जमानत मिलनी बाकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here