Urdu

Epaper Urdu

YouTube

Facebook

Twitter

Mobile App

Home भारत क़िस्मत के निराले खेल: चुनाव में मिली जीत,लेकिन प्रधानी के आगे खड़ी...

क़िस्मत के निराले खेल: चुनाव में मिली जीत,लेकिन प्रधानी के आगे खड़ी हो गयी मौत

क़िस्मत के निराले खेल: चुनाव में मिली जीत,लेकिन प्रधानी के आगे खड़ी हो गयी मौत

उत्तर प्रदेश
कहते हैं कि क़िस्मत से कोई नही जीत सकता। इसका नज़ारा उत्तर प्रदेश के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के परिणामों के दौरान देखने को मिला। जहाँ प्रत्याशी चुनाव की बाजी तो जीत गये लेकिन ज़िन्दगी की बाजी हार गए। मौत उनकी प्रधानी के आगे आकर खड़ी हो गयी। जिससे उम्मीदवार जीतने के बावजूद प्रधानी नही सम्भाल सके।
ग्राम पंचायत नगला ऊसर से प्रधान के लिए पिंकी देवी पत्नी सुभाष चंद्र ने चुनाव लड़ा था। मतदान भी सकुशल संपन्न हुआ था, लेकिन बीते बुधवार को अचानक उनकी हालत खराब हो गई थी। सांस लेने में तकलीफ होने पर उन्हें आगरा के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां उपचार के दौरान उनकी बृहस्पतिवार को मौत हो गई थी। इसके बाद रविवार को मतों की गणना हुई। मतगणना में पिंकी देवी ने जीत दर्ज की। उन्हें कुल 388 वोट मिले। वहीं उनकी निकटतम प्रतिद्वंद्वी चंद्रावती को 273 वोट मिले। ऐसे में पिंकी देवी ने 115 वोटों से जीत दर्ज की, लेकिन उनकी पहले की मौत हो जाने से समर्थक और परिजन मायूस नजर आए। मतगणना परिणाम आने के बाद अभिकर्ता नम आंखों से लौट गए। 

पंचायत चुनाव जीतने वाली पिंकी का फ़ाइल फोटो


चूंकि पिंकी देवी की मौत पहले ही हो चुकी है इसलिए परिणाम घोषित होने के बाद भी यहां फिर से चुनाव कराया जाएगा।
वाराणसी के पिंडरा ब्लॉक के नंदापुर के ग्राम प्रधान की सुनरा देवी ने अपने निकटम प्रतिद्वंद्वी को 3 मतों से हराकर जीत हासिल की। लेकिन जीत की खुशी उनके लिए मौत लेकर आई। जीत की सूचना मिलते ही आईसीयू में भर्ती सुनरा देवी की मौत हो गई। सुनरा देवी को 294 मत तथा प्रेमशीला को 291 मत मिला। मृत प्रधान सुनरा देवी का प्रमाणपत्र उनके पुत्र अजय यादव ने लिया।
अमरोहा के गंगेश्वरी विकास खंड के गांव खनौरा में प्रधान पद की प्रत्याशी सविता पत्नी राजकुमार 165 वोट से चुनाव जीतीं लेकिन यह बदकिस्मती रही कि शुक्रवार रात उनका कोराना की वजह से निधन हो गया। आज उनकी जीत के ऐलान के बाद भी परिवार खुशी से दूर गम में डूबा रहा। देवरिया के विकास खण्ड भागलपुर की ग्राम पंचायत कपूरी एकौना से प्रधान पद की प्रत्याशी विमला देवी (55) की रविवार की सुबह जिला अस्पताल में मौत हो गई जबकि दोपहर में आए चुनाव परिणाम में वह विजयी रहीं।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

संजय सिंह ने राम मन्दिर निर्माण ट्रस्ट पर लगाया ज़मीन खरीद में करोड़ो के घोटाले का आरोप

संजय सिंह ने राम मन्दिर निर्माण ट्रस्ट पर लगाया ज़मीन खरीद में करोड़ो के घोटाले का आरोप

मानवता की मिसाल बनी रिहाना शैख़ ने गोद लिए 50 बच्चे,पति कहते हैं ‘मदर टेरेसा’

मानवता की मिसाल बनी रिहाना शैख़ ने गोद लिए 50 बच्चे,पति कहते हैं 'मदर टेरेसा'

बुज़ुर्ग दम्पत्ति हत्याकांड: जिसे बनना था बुढ़ापे का सहारा,वही बन गया हत्यारा

बुज़ुर्ग दम्पत्ति हत्याकांड: जिसे बनना था बुढ़ापे का सहारा,वही बन गया हत्यारा ग़ाज़ियाबादगाजियाबाद के...

मुन्ना खान को जबरन धर्मान्तरण में फंसाने वाली को हाईकोर्ट ने लगाई फटकार,कहा “अध्यादेश पास होते ही कैसे हो गयी जागरूक”

मुन्ना खान को जबरन धर्मान्तरण में फंसाने वाली को हाईकोर्ट ने लगाई फटकार,कहा "अध्यादेश पास होते ही...

लड़कियों को शिक्षित और आत्मनिर्भर बनाना हमारा लक्ष्य: अली ज़ाकिर

लड़कियों को शिक्षित और आत्मनिर्भर बनाना हमारा लक्ष्य: अली ज़ाकिर शिक्षा के क्षेत्र में...