रवीश कुमार

माननीय योगी जी,

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

आपने भारत को विश्व गुरु बना देने की महती ज़िम्मेदारी निभाई है। बधाई। बस दो चार काम ही रह गए हैं। एक बड़े लक्ष्य के प्रति समर्पित रहने के कारण अपनी भर्तियों को पूरा करना भूल गए हैं। युवाओं को लगता है कि आप इतने ख़ाली हैं कि मेरा फ़ेसबुक चेक करते रहते हैं। इन्हें पता नहीं कि एक मुख्यमंत्री को साँस लेने की फ़ुर्सत नहीं होती है। मुझे लगता है कि युवा धर्मच्युत हो रहे हैं। मेरी राय में आपकी सरकार को अयोध्या जी में बनने वाले भव्य और सुंदरतम राम मंदिर की तरह प्रदेश के हर ज़िले में बनाना चाहिए। ताकि युवा शिक्षा और रोज़गार को धर्म से बड़ा न समझें। धर्म से बड़ा कुछ नहीं होता है। अगर जगह-जगह मंदिर होता तो ये लोग मैसेज भेज कर मुझे तंग करने का काम नहीं करते।

इनमें ज़रा भी शालीनता और शिष्टाचार नहीं है। होती तो एक ही मैसेज को हज़ारों नंबर से भेज कर मेरी उँगलियों को कष्ट नहीं देते। मैसेज पढ़कर लगता है कि आपके युवा लाचार हैं। आप आज इन्हें नियुक्ति पत्र दीजिए फिर देखिए ये शादी के लिए लड़की वालों का कैसे ख़ून चूसते हैं। भारत का दहेज लोभी युवा आदर्शवादी और धार्मिक होता है। उसमें एक कमी है तो दो ख़ूबियाँ भी हैं। इसलिए नियुक्ति पत्र दे दें।

मैं आपके लिए चिन्तित हूँ कि आप ऐसे पत्रों को कैसे झेलते होंगे। मत पढ़ा कीजिए, मेरी तरह ब्लाक कर दें । इनकी समझ इतनी है कि मैं लिख दूँ । बल्कि हो सके तो एक ट्विट कर दें कि आप रवीश कुमार का फ़ेसबुक पोस्ट नहीं पढ़ते हैं और न ही रवीश कुमार आपकी सरकार में मंत्री हैं। सर एक लड़के ने लिखा है कि आपके साथ मैं भी ज़िम्मेदार हूँ। देखता होगा गोदी मीडिया लेकिन नौकरी न मिलने के लिए ज़िम्मेदार मुझे ठहरा रहा है। एक युवक मुझे पर हँस रहा था कि पुलिस भर्ती, 69000 शिक्षक भर्ती पर आपको पत्र लिखा तो कुछ नहीं हुआ। आपकी सरकार की असफलताओं के लिए युवा मुझे दोष दें इसी में मेरी सफलता है।

अगर आर्थिक संकट है तो एक उपाय बताता हूँ । जिस तरह से एयर इंडिया ने फ़ार्मूला निकाला है कि बिना सैलरी के पाँच साल छुट्टी पर भेजने का उसी तरह आप इन युवाओं से कहें कि परीक्षा रिज़ल्ट अपने पास रखें। पाँच साल बाद नियुक्ति पत्र मिल जाएगा। तब तक इन्हें धार्मिक कार्यों में लगाएँ । धर्मच्युत युवा राष्ट्र के निर्माण के लिए अनुपयोगी होता है।

अपना ख़्याल रखें । आप श्रेष्ठ हैं । मैं पत्र का मैटर संलग्न कर रहा हूँ ।

आपका,

रवीश कुमार

पत्र-

सेवा में,

श्री मान रवीश कुमार जी

एनडीटीवी न्यूज़,

विषय- उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा ग्राम पंचायत अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी एवं समाज कल्याण पर्यवेक्षक परीक्षा 2018 की नियुक्ति के संबंध में।

महोदय

        मैं एक बेरोजगार हूं वो भी चयनित! जी हां दरअसल हम 1952 चयनित अभ्यर्थी हैं UPSSSC द्वारा आयजित ग्राम पंचायत अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी एवं समाज कल्याण पर्यवेक्षक परीक्षा 2018(विज्ञापन संख्या 02/2018) के जिनका अन्तिम परिणाम आए 11 महीने हो गए हैं परन्तु उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा हमें नियुक्ति नहीं दी जा रही है इस संबंध में आप से विनम्र निवेदन है कि कृपया आप हम चयनित बेरोजगारों को नियुक्ति दिलाने में सहयोग करें । महामारी और बेरोज़गारी के इस दौर में हमारी उम्मीदें सिर्फ़ आप पर टिकी हैं

हम आपके जीवनभर कृतज्ञ रहेंगे। धन्यवाद सर जी

                     आपका दर्शक/पाठक

                   एक चयनित बेरोजगार युवा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here