लॉकडाउन में व्यापार ठप पड़ा है,भाजपा की एमसीडी घूसखोरी और व्यापारियों की दुकानें सील करने में लगी है: दुर्गेश पाठक

  • पहले ट्रेड लाइसेंस के लिए 500 से 1000 रुपए देने पड़ते थे लेकिन आज 6000 से 15000 तक देने पड़ रहे हैं- दुर्गेश पाठक
  • पहले फैक्ट्री लाइसेंस के लिए 5000 से 15000 रुपए लगते थे, आज उसे बनाने और रिन्यू करने के लिए लगभग 50 हज़ार से 1.5 लाख तक लिए जा रहे हैं- दुर्गेश पाठक
  • दुकानों के साइन बोर्ड के साइज में एक इंच का भी अंतर आ जाए तो एमसीडी उसके लिए भी एफआईआर कर देती है- दुर्गेश पाठक
  • एमसीडी फैक्टरियों से कूड़ा उठाने के लिए भी चार्ज लेती है जबकि वो कूड़ा उठाते भी नहीं हैं- दुर्गेश पाठक
  • मैं भाजपा के नेताओं से मांग करता हूँ कि इस महामारी के समय में यदि कोई व्यापारी किसी कारण से पैसा नहीं दे पा रहा है तो उस पर पेनल्टी मत लगाइए, उसकी दुकान मत बंद करिए- दुर्गेश पाठक
  • व्यापारियों का कहना है कि एक तरफ आम आदमी पार्टी की सरकार व्यापारियों को सुविधाएं देने में लगी हुई है, वहीं भाजपा की सरकार उनका खून चूसने में लगी हुई है- दीपक सिंगला

नई दिल्ली: 20 मई 2021
आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता व एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने कहा कि दुर्भाग्य से पिछले एक महीने से लॉकडाउन लगा हुआ है, दुकानें नहीं खुली हैं। ऐसे में अगर कोई व्यापारी पैसे नहीं दे पा रहा है तो भाजपा की एमसीडी या तो दुकान को सील कर रही है या उस व्यापारी से मनमाने तरीके से घूस ले रही है। ऐसे में छोटे और मझोले व्यापारियों पर इसकी सबसे बड़ी मार पड़ी है। पहले ट्रेड लाइसेंस बनाने के लिए 500 से 1000 रुपए देने पड़ते थे लेकिन आज 6000 से 15000 तक देने पड़ रहे हैं। और साथ ही भाजपा उनसे 2% ट्रांजैक्शन चार्ज भी ले रही है। पहले जो फैक्ट्री लाइसेंस 5000 से 15000 रुपए में बन जाते थे आज उसे बनाने और रिन्यू करने के लिए 50 हज़ार से लगभग 1.5 लाख तक लिए जा रहे हैं। एमसीडी फैक्टरियों से कूड़ा उठाने के लिए भी चार्ज लेती है। जबकि वो कूड़ा उठाते भी नहीं हैं। दुर्गेश पाठक ने भाजपा के नेताओं से व्यापारियों पर पेनल्टी न लगाने और दुकान न बंद करने की मांग की है। प्रेस वार्ता में मौजूद आप नेता दीपक सिंगला ने कहा कि जहां एक तरफ आम आदमी पार्टी की सरकार व्यापारियों को सुविधाएं देने में लगी हुई है, वहीं भाजपा की सरकार उनका खून चूसने में लगी हुई है। हम व्यापारी हैं हमारी सहायता करनी चाहिए। हम भाजपा के नेताओं से हाथ जोड़कर विनती करते हैं कि कृपया हमें परेशान करना बंद कर दें और व्यापारियों का साथ दें।
आम आदमी पार्टी के एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने गुरुवार को प्रेस वार्ता को संबोधित किया। दुर्गेश पाठक ने कहा कि इस कोरोना की बीमारी से बहुत बड़े पैमाने पर जनहानि हुई है। हमसब ने अपने बहुत सारे प्रिय दोस्तों और परिवार के सदस्यों को खोया है। वहीं जो दूसरी सबसे बड़ी मार पड़ी है वह आर्थिक रूप से पड़ी है। लोग आर्थिक रूप से पूरी तरह से टूट गए हैं। पिछले एक साल से देखा जाए तो व्यापार पूरी तरह से ठप है। पिछले एक साल से दुकानों का व्यापार लगभग एक चौथाई भी कहना ज़्यादा होगा, उतना भी नहीं रहा है। लोग बहुत ज्यादा परेशान हैं। कुछ दिन पहले हमने मुद्दा उठाया था कि भाजपा की एमसीडी ने दिल्ली के निवासियों पर 13 तरह के नए टैक्स लगाए हैं और उसमें सबसे ज्यादा मार छोटे और मझोले व्यापारियों पर मार पड़ी है।
दुर्गेश पाठक ने कुछ आंकड़े पेश करते हुए कहा, साथियों मैं आपको एक छोटा सा डाटा देना चाहूंगा। दिल्ली में पहले छोटे व्यापारियों को ट्रेड लाइसेंस बनाने के लिए 500 से 1000 रुपए देने पड़ते थे लेकिन आज 6000 से 15000 तक देने पड़ रहे हैं। और साथ ही भाजपा उनसे 2% ट्रांजैक्शन चार्ज भी ले रही है। पहले जो फैक्ट्री लाइसेंस 5000 से 15000 रुपए में बन जाते थे आज उसे बनाने और रिन्यू करने के लिए 50 हज़ार से लगभग 1.5 लाख तक लिए जा रहे हैं। एमसीडी हमारे घर का कूड़ा नहीं उठाती है लेकिन एमसीडी ने एक नियम बनाया हुआ है कि वह फैक्टरियों से कूड़ा उठाने के लिए भी चार्ज लेती है। अगर छोटी दुकान है तो 6000 और बड़ी दुकान है तो 50 हज़ार प्रति वर्ष कूड़ा उठाने का लेते हैं। जबकि वो कूड़ा उठाते भी नहीं हैं।
व्यापारियों पर एमसीडी के जुल्मों कि पोल खोलते हुए दुर्गेश पाठक ने कहा कि आप देखते होंगे दुकानों के ऊपर साइन बोर्ड लगा होता है। अगर उसके साइज में एक इंच का अंतर भी आ जाए तो वह उसके लिए भी एफआईआर करते हैं और मनमाने रुप से उसपर पेनल्टी लेते हैं। अगर देखा जाए तो पिछले एक साल से व्यापार पूरी तरीके से शून्य हो चुका है। और ऐसी स्थिति में ट्रेड लाइसेंस का इतना रुपया लेना, फैक्ट्री लाइसेंस का इतना रुपया लेना, कूड़ा उठाने के लिए इतना रुपया लेना और साइन बोर्ड पर इतनी बड़ी-बड़ी पेनल्टी करना मुझे लगता है कि यह गलत है।
उन्होंने कहा, दुर्भाग्य यह है कि पिछले एक महीने से लॉकडाउन लगा हुआ है, दुकानें नहीं खुली हैं। ऐसे में अगर कोई व्यापारी पैसे नहीं दे पा रहा है तो भाजपा की एमसीडी या तो दुकान को सील कर रही है या उस व्यापारी से मनमाने तरीके से घूस ले रही है। कल मेरे पास कई व्यापारियों के फोन आए, कई मुझसे मिलने भी आए। कमलानगर मार्केट के व्यापारी, साउथ दिल्ली मार्केट के व्यापारी, विशेषकर नॉर्थ के लोग ज़्यादा परेशान हैं। उन्होंने कहा कि साहब अगर इसमें कुछ रियायत नहीं मिली तो दिल्ली का व्यापारी तबाह हो जाएगा। दिल्ली का छोटा व्यापारी और मझोला व्यापारी पूरी तरह से तबाह हो जाएगा। उसको व्यापार बंद करना पड़ेगा। आज जब हिंदुस्तान में मांग उठ रही है कि टैक्स कम किया जाए, ईज ऑफ बिजनेस किया जाए, व्यापार को ऐसे बेहतर तरीके का माहौल दिया जाए कि लोग बेहतर तरीके से व्यापार कर सकें और उसे बढ़ा भी सकें। ऐसा लगता है कि भारतीय जनता पार्टी के नेता या तो लूटने में लगे हुए हैं या तो दिल्ली को बर्बाद करने में लगे हुए हैं। भारतीय जनता पार्टी के नेता दिल्ली के लोगों से एक युद्ध लड़ रहे हैं। आज दिल्ली में मझोला और छोटा व्यापारी पूरी तरीके से परेशान है।
भाजपा से मांग करते हुए दुर्गेश पाठक ने कहा, मैं भारतीय जनता पार्टी के नेताओं से मांग करता हूं कि इस महामारी के समय में व्यापारियों का खून चूसना बंद कर दीजिए। यदि कोई व्यापारी किसी कारण से पैसा नहीं दे पा रहा है तो उस पर पेनल्टी मत लगाइए। उसकी दुकान मत बंद करिए। उसके यहां पैसे लेने के लिए अपने एजेंट मत भेजिए। यह मेरी आपसे हाथ जोड़कर विनती है और मानवता के नाते भी आपसे कहना चाहता हूं कि दिल्ली के व्यापारी सारा टैक्स पूरी ईमानदारी से भरते हैं। आज इन व्यापारियों के कारण ही दिल्ली चल रही है। आपसे मेरी हाथ जोड़कर विनती है कि आप दिल्ली के व्यापारियों को परेशान ना करें। लेकिन मुझे ऐसी बहुत कम अपेक्षा है कि भारतीय जनता पार्टी थोड़ा सा भी अपना मानवीय पहलू दिखाएगी। मैं दिल्ली के व्यापारियों से कहना चाहता हूं कि 7 से 8 महीनों की और देरी है। दिल्ली में एमसीडी के चुनाव होंगे और इस बार आपसब लोग मिलकर आम आदमी पार्टी को जिताएं। हम आपको यह सभी सहूलियत देंगे, आपको एक बेहतर माहौल देंगे और आज जो एमसीडी ने हालात किए हैं उस हालात को बेहतर करेंगे। हमारे साथ दीपक सिंगला जी हैं जो कि खुद दिल्ली के व्यापार वर्ग से आते हैं वह खुद बेहतर रूप से बता पाएंगे कि वह किस तरह से इस समस्या का सामना कर रहे हैं।
आप नेता दीपक सिंगला ने कहा, जैसा कि दुर्गेश भाई ने बताया कि मैं खुद व्यापारी वर्ग से आता हूं। दिल्ली में सभी व्यापारियों और दिल्ली के सभी संस्थानों से मेरी कल बात हुई। उन्होंने बताया आज की तारीख में भाजपा के राज में दिल्ली में व्यापार करना बहुत ही मुश्किल हो गया है। वह लोग दिल्ली के व्यापारियों का खून चूसने में लगे हुए हैं, बिल्कुल भी हमारा साथ नहीं दे रहे हैं। जहां एक तरफ आम आदमी पार्टी की सरकार अरविंद केजरीवाल जी की सरकार व्यापारियों को सुविधाएं देने में लगी हुई है, उनका सिस्टम बेहतर बनाने में लगी हुई है वहीं भाजपा की सरकार उनका खून चूसने में लगी हुई है। उनको परेशान कर रही है। उन्हें हर तरफ से तंग कर रही है। इस महामारी के दौरान इन लोगों को उनकी सहायता करनी चाहिए। हम व्यापारी हैं हमारी सहायता करनी चाहिए। इस वक्त उन्हें तंग नहीं करना चाहिए इसलिए हम भाजपा के नेताओं से हाथ जोड़कर विनती करते हैं कि कृपया हमें परेशान करना बंद कर दें और व्यापारियों का साथ दें। यह व्यापारी हैं जो टैक्स देते हैं, यह व्यापारी हैं जो दिल्ली के विकास में साथ देते हैं इसलिए उन्हें तंग करना बिल्कुल बंद कर दें।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here