सिरसाः इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो ) के प्रधान महासचिव अभय सिंह चौटाला पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों तथा कार्यकर्ताओं के साथ किसानों को पार्टी की ओर से पूरा समर्थन देने के लिए गांव भावदीन के समीप स्थित टोल नाके से टिकरी बॉर्डर के लिए आज रवाना हुए। टिकरी बॉर्डर रवाना होने से पहले श्री चाैटाला ने कहा कि उनकी पार्टी पहले ही दिन से केंद्र की भाजपा सरकार की ओर से बनाए गए तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ थी और तभी वे इनेलो किसानों के समर्थन में पूरी तरह से साथ है।किसानों की जायज मांगों के प्रति जिस प्रकार भाजपा सरकार ने हठधर्मिता का रवैया अपनाया हुआ है, वह बेहद निंदनीय है और केंद्र सरकार को जिद छोडक़र किसानों की बात सुननी चाहिए।

इनेलो नेता ने कहा कि पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता अपने वाहनों पर किसानों के संघर्ष का प्रतीक झंडा लेकर टिकरी बॉर्डर पहुंचेगा। केंद्र सरकार की ओर से बातचीत के लिए किसान संगठनों को बार बार तारीखें देने का अर्थ यही है कि केंद्र सरकार किसानों के आंदोलन को कमजोर करना चाहती हैं लेकिन भाजपा को यह बात बेहतर तरीके से समझ लेनी चाहिए कि जो किसान आंदोलन को कमजोर करने का प्रयास करेगा वे स्वयं ही किसान एकता के सामने कमजोर सिद्ध होंगे।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

श्री चौटाला ने कहा कि यदि अमित शाह किसानों के इतने ही पक्षधर हैं तो उन्हें आरंभ में ही किसानों के बीच आकर उनकी मांगें माननी चाहिये थी। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा द्वारा किसानों के समर्थन में दिए जा रहे बयानों पर प्रतिक्रियास्वरूप उन्होंंने कहा कि श्री हुड्डा किसानों के समर्थन में केवल घडियाली आंसू बहा रहे हैं जबकि वास्तविकता यह है कि उन्होंने अभी तक किसानों के हित में एक भी काम नहीं किया जिससे उनकी दोगली नीतियां उजागर होती हैं। उन्होंने कहा कि इनेलो चौधरी देवीलाल की स्थापित की हुई पार्टी है जो पूरी तरह से किसान, दलित, मजदूर, कमेरा के पक्ष में काम कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here