नई दिल्ली : हरियाणा कांग्रेस विधायक दल के उप नेता व नूह विधायक चौधरी आफताब अहमद ने शहीद हसन खान मेवाती मेडीकल कॉलेज नल्हड़ में कांग्रेस द्वारा मंजूर किए गए डेंटल कॉलेज पर प्रदेश की गठबन्धन सरकार को घेरा है।

बता दें कि शहीद हसन खान मेवाती मेडीकल कालेज में कांग्रेस ने स्थापना के समय पर ही 100 बेड के डेंटल कॉलेज की मंजूरी इसके विस्तार के लिए दी थी। लेकिन अब जब छह साल बाद भी कोई विस्तार नहीं हुआ.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

प्रस्तावित डेंटल कॉलेज की क्षमता 100 से घटाकर 50 कर दी गई है। नूंह विधायक चौधरी आफताब अहमद ने बताया कि उनके समय ये परियोजना 255 करोड रूपए की थी लेकिन अब भाजपा जजपा गठबन्धन सरकार ने इस परियोजना पर कैंची चलाकर 139 करोड रुपए की कर दी है।

सीएलपी उप नेता चौधरी आफताब अहमद ने पत्रकार वार्ता में प्रदेश सरकार की मेवात को लेकर मानसिकता पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि कुछ देना तो दूर बल्कि जो परियोजनाएं पहले ही मंजूर हो चुकी है उन्हें भी सरकार या तो विलंब कर रही है यह उन पर कैंची चला रही है।

आफताब अहमद ने कहा कि छह साल में मौजूदा गठबन्धन सरकार ने कोटला परियोजना, छपेड ड्राइविंग स्कूल, गुडगांव अलवर राष्ट्र राजमार्ग के चौड़ीकरण, सालाहेडी केंद्रीय विद्यालय, मेवात कैडर की भर्तियों सहित कई कामों में रोड़ा अटकाया गया है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार मेवात को आईआरब, सीआरपीएफ कैंप दे रही है जो गैर जरूरी भी हैं और यहां के लोगों की भावनाओं के विपरित भी।

सीएलपी उप नेता आफताब अहमद कहते हैं कि मौजूदा सरकार की कार्यशैली को देखकर लगता है कि वो मेवात को कुछ देने के बजाय मेवात से छिनने में यकीन रखती है, जो गलत है। उन्होंने कहा कि वो डेंटेल कॉलेज की परियोजना को घटाकर आधा करने के खिलाफ मुख्यमंत्री को पत्र भी लिखेंगे ओर आला अधिकारियों से भी बैठक करेगे। उन्होंने कहा कि सरकार मेवात से भेदभाव बंद करे अन्यथा संघर्ष सड़क से लेकर विधानसभा तक होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here