नई दिल्ली : पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले टीएमसी में असंतुष्ट नेताओं की बाढ़ सी आ गई है, गुरुवार से लेकर अब तक पांच नेताओं ने पार्टी से दूरी बना ली है.

शुभेंदु अधिकारी, शीलभद्र दत्ता, जितेंद्र तिवारी और कबिरुल इस्लाम के बाद अब उत्तरी काठी से विधायक बनश्री मैती ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

शुभेंदु अधिकारी के साथ ये नेता BJP में शामिल हो सकते हैं, अमित शाह शनिवार को बंगाल दौरे पर जा रहे हैं, इसी मौके पर टीएमसी के नेता BJP में शामिल हो सकते हैं.

उपाध्यक्ष मुकुल रॉय ने आज आरोप लगाया कि टीएमसी उन नेताओं को झूठे मुकदमों में फंसा रही है जो टीएमसी छोड़ कर BJP में आए हैं.

उन्होंने कहा, “लेकिन जब से अर्जुन सिंह और मैं BJP में शमिल हुए हैं, मेरे खिलाफ 55 मामले दर्ज हुए और उनके (अर्जुन) खिलाफ 65 मामले दर्ज हुए.

अर्जुन के बेटे पर भी झूठे मामले दर्ज किये गए,” रॉय ने कहा, “यह टीएमसी सरकार है जो अगले विधानसभा चुनाव में हारेगी.”

टीएमसी के कुछ सदस्यों के पार्टी छोड़ने के बीच सांसद काकोली घोष दस्तीदार ने BJP पर लालज देने का आरोप लगाया, उन्होंने कहा, BJP को झूठ बोलने वाली पार्टी के रूप में जाना जाता है.

ममता के खिलाफ हैं क्योंकि वह मोदी के शासन के दौरान हुई आर्थिक आपदा की सबसे कटु आलोचक हैं, इसलिए BJP उनसे बदला ले रही है, BJP टीएमसी के नेताओं को अपने दल में आने का लालच दे रही है.’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here