इटावा (यूपी) : गणतंत्र दिवस के मौके पर इटावा में ट्रैक्टर रैली के दौरान अखिलेश यादव ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा.

ट्रैक्टर रैली के दौरान लोगों को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि देश की सरकार ने किसानों का डेथ वारंट बिना बहुमत के पास कर दिया है, जिसका विरोध देश के किसान कर रहे हैं.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार दावा कर रही है कि किसानों का धान 1868 रुपए प्रति क्विंटल खरीदा गया जबकि किसानों को अपना धान 900, 1000 और 1100 रुपए प्रति क्विंटल बेचना पड़ा है.

अखिलेश यादव ने कहा कि कोरोना महामारी में लोगों को नाक और मुंह बंद करना पड़ा, लेकिन पता नहीं बीजेपी को कौन सी बीमारी आई जिससे ये लोग आंख और कान बंद किए हुए हैं.

अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी के लोग नफरत फैलाते हैं, जात-धर्म के नाम पर राजनीति करते हैं, उन्होंने कहा कि यूपी के सीएम कह रहे हैं कि प्रदेश में 14 करोड़ लोगों को नौकरी दे दी गई, लेकिन मुख्यमंत्री इटावा ,सैफई, मैनपुरी और फिरोजाबाद के लोगों से नफरत करते हैं.

यूपी में उनकी कार्रवाई देखकर हमें नहीं लगता कि वो योगी हैं, अखिलेश यादव ने कहा कि बाबा मुख्यमंत्री लैपटॉप नहीं चला पाते, इसलिए उन्होंने लैपटॉप नहीं बांटे, ये लोग झूठ बोलकर राजनीति करने वाले लोग हैं, इनसे अच्छा झूठ कोई नहीं बोल सकता.

नए कृषि कानूनों को लेकर आंदोलन कर रहे किसानों का जिक्र करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि, कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन छेड़ने वाले किसानों को आतंकवादी और खालिस्तानी कहा गया लेकिन हम बधाई देते हैं.

पंजाब के किसानों को कि उन्होंने सरकार की एक नहीं चलने दी और वह डटे रहे और आज भी आंदोलन कर रहे हैं, हम सपा के लोग उनका पूरा समर्थन करते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here