नई दिल्ली : अमेरिका में हाल ही में राष्ट्रपति चुनाव हुए हैं, इस चुनाव में ट्रंप को हार का सामना करना पड़ा है, वहीं जो बाइडेन को अमेरिका के नए राष्ट्रपति के तौर पर चुना गया है.

हालांकि चुनाव हो जाने के बाद अब तक अमेरिका में ट्रंप पद पर अड़े हुए थे और हार मानने को तैयार नहीं थे लेकिन अब ट्रंप ने अमेरिका में सत्ता हस्तांतरण की प्रक्रिया शुरू करने की मंजूरी दे दी है.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

अमेरिकी चुनाव होने के तीन-चार हफ्तों के बाद भी ऐसा माना जा रहा था कि ट्रंप चुनावी नतीजों को पलट सकते हैं, डोनाल्ड ट्रंप चुनावी नतीजों के सामने आने के बाद कई बार जो बाइडेन और उनकी डेमोक्रेटिक पार्टी पर कई बार निशाना साध चुके हैं.

चुनावी नतीजों के बाद ट्रंप अपनी हार मानने को तैयार नहीं थे, इसके लिए उन्होंने नतीजों को कानूनी चुनौती देने की रणनीति पर भी काम किया लेकिन वो काम नहीं आई, ऐसे में अब ट्रंप अपनी हार मानते हुए दिखाई दे रहे हैं.

अब ट्रंप ने अमेरिका के जनरल सर्विस ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन को सत्ता ट्रांसफर करने की प्रक्रिया शुरू करने की मंजूरी दे दी है, ट्रंप ने कहा है कि जो किया जाना चाहिए, वो करिए.

इसके बाद अमेरिका की GSA यानी जनरल सर्विस एडमिनिस्टेटर एमिली मर्फी ने जो बाइडेन को चिट्ठी लिखी है और सत्ता हस्तांतरण की प्रक्रिया में शामिल होने का न्योता दिया है.

बता दें कि ट्रंप ने चुनावी नतीजों के आने के बाद अपनी हार नहीं मानी थी, ट्रंप अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए हर वो हथकंडे अपना रहे थे जो कि वो अपना सकते थे.

इस दौरान उन्होंने कोर्ट में केस भी दायर किए, अधिकारियों या राज्य के प्रतिनिधियों पर दबाव बनाने जैसे काम भी किए, ट्रंप ने चुनाव अधिकारियों या राज्य के प्रतिनिधियों पर दबाव बनाने जैसा काम भी किया, जो कि पहले कभी भी देखने को मिला नहीं मिला था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here