नई दिल्ली : छत्तीसगढ़ में नक्सलियों से लोहा लेते वक्त शहीद हुए जवानों को लेकर अमित शाह ने कहा कि हमारे जवान शहीद हुए हैं, उन्होंने कहा कि जहां तक आंकड़ों का सवाल है तो उस बारे में मैं अभी कुछ नहीं कहना चाहता हूं क्योंकि सर्च ऑपरेशन चल रहा है.

अमित शाह ने कहा कि जिन जवानों ने अपना खून बहाया है उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा, उन्होंने कहा कि इस घटना की वजह से मैं अपना असम दौरा छोड़ दिल्ली लौट रहा हूं,

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर मुठभेड़ में 22 जवान शहीद हो गए हैं, सुरक्षा बलों ने लापता 17 जवानों के शव बरामद कर लिए हैं, 20 से ज्यादा हथियार जवानों के शव के पास से नहीं मिले हैं.

नक्सली जवानों की हत्या करने के बाद हथियार लूट ले गए हैं, हमले का मास्टरमाइंड बटालियन नंबर 1 का हेड हिडमा है, माओवादियों का सबसे बड़ा बटालियन है ये, वहीं इस हमले की वजह से अमित शाह ने भी चुनावी दौरा छोड़ दिल्ली रवाना हो गए हैं.

अमित शाह ने सुबह छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को फोन कर बीजापुर में हुई नक्सली घटना के संबंध में चर्चा की, सीएम बघेल ने गृह मंत्री को बीजापुर में राज्य और केंद्र के सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ की मैदानी स्थिति से अवगत कराया

सुकमा जिले के जगरगुंडा थाना क्षेत्र के अंतर्गत जोनागुड़ा गांव के करीब सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई थी जिसमें पांच जवानों के शहीद होने और 30 अन्य जवानों के घायल होने की जानकारी मिली थी.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि शहीद जवानों में से दो जवानों के शव सुरक्षा बलों ने बरामद किए थे और तीन अन्य जवानों के शव शिविर नहीं लाए जा सके थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here