नई दिल्ली : गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि अगर सीएम ठाकरे मुंबई पुलिस के पूर्व आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा उनके खिलाफ लगाए भ्रष्टाचार के आरोपों पर किसी भी जांच का आदेश देते हैं तो वह इसका स्वागत करेंगे.

देशमुख ने आधी रात को ट्वीट कर यह बात कही और ठाकरे को 21 मार्च को लिखे पत्र की प्रति भी साझा की जिसमें उन्होंने सिंह के आरोपों की तुरंत जांच कराने की मांग की थी.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

देशमुख ने ट्वीट किया मैंने माननीय मुख्यमंत्री से मेरे खिलाफ परमबीर सिंह के आरोपों की जांच कराने का आदेश देने की मांग की है ताकि स्थिति साफ हो, अगर माननीय मुख्यमंत्री जांच का आदेश देते हैं तो मैं इसका स्वागत करूंगा, सत्यमेव जयते. 

देशमुख ने अपने पत्र में कहा कि उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों में ‘कोई सच्चाई’ नहीं है और उन्होंने मामले में जांच कराने की मांग की.

देशमुख ने 20 मार्च को ठाकरे को आठ पृष्ठों वाला पत्र लिखा जिससे महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल आ गया, पत्र में दावा किया गया है कि देशमुख ने पुलिस अधिकारियों को बार तथा होटलों से हर महीने 100 करोड़ रुपये इकट्ठा करने के लिए कहा था.

मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली कार में विस्फोटक सामग्री होने के मामले में विवादों में घिरी राज्य सरकार ने 17 मार्च को परमबीर सिंह का तबादला कर दिया था.

इसके एक दिन बाद देशमुख ने कहा था कि सिंह के कुछ सहकर्मियों ने ‘गंभीर और अक्षम्य गलतियां’ की जिसके बाद उनका तबादला किया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here