नई दिल्ली: दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब में विपक्ष के 9 दलों ने एक साथ मिलकर बैठक की और बिहार में चुनाव के मद्देनजर विशेष चर्चा की गई, साथ ही बिहार में किस तरीके से स्वस्थ और सुरक्षित चुनाव कराया जाए इसके मद्देनजर पार्टियों ने तीन मांग तैयार की है जो वर्चुअल मुलाकात के माध्यम से चुनाव आयोग को सौंपी जाएगी.

9 दलों की तीन मांगे हैं

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App
  1. पोलिंग बूथ पर एक हजार वोटरों का इंतजाम किया गया है, उसको चार हिस्सों में बांट दिया जाना चाहिए और हर पोलिंग बूथ पर पोलिंग स्टेशन बनाए जाए जिसमें ढाई सौ वोटर्स मात्र शामिल हो सकें.
  2. इंडिया जैसी बड़ी पार्टियों के पास धन संपदा है इसलिए वह वर्चुअल रैली कर सकते हैं, इस तरीके से अन्य दलों के पास बराबर मौका नहीं मिलेगा रैली करने का इसलिए सभी दलों को एक जैसा मौका दिया जाए अपने प्रचार प्रसार के लिए.
  3. पोस्टल बैलट का जो सुविधा की गई है, 65 से ऊपर वर्ग के लिए उस पर भी फिलहाल रोक लगाई जाए. चुनाव आयोग ने इस पर रोक लगाई है जिसका स्वागत विपक्षी दलों ने किया है क्योंकि इससे संभावना है कि गुंडाराज बढ़ जाएगा, बिहार में पहले भी इस तरीके की घटनाएं होती रही हैं इसके मद्देनजर वोटरों को प्रेशर में डाल के वोटर्स को किसी के लिए भी वोट कराने का दबाव दिया जा सकता है.

इसके अलावा बाढ़ और बारिश जैसी अगर कोई संभावना बनती है तो उससे भी बिहार सरकार को निर्देश दिया जाए कि इससे निपटने की पूर्व तैयारी की जा सके जिससे वोटर्स को चुनाव में परेशानी ना हो और चुनाव के बीच कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग का खास ख्याल रखा जा सके.

बहरहाल, वर्चुअल मुलाकात के माध्यम से ये मांगे चुनाव आयोग को सौंपी जाएगी, आगे चुनाव आयोग बिहार विधानसभा को लेकर क्या फैसला लेती है इस पर सभी राजनीतिक दलों की निगाहें टिकी हुई है..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here