लखनऊ (यूपी) : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार ने चार वर्षों में प्रदेश को इस बुरी तरह चौपट किया है कि यह बीस वर्ष पीछे चला गया है।

जो काम समाजवादी पार्टी की सरकार के समय हो रहे थे और प्रदेश प्रगति तथा विकास के रास्ते पर रफ्तार पकड़ रहा था उन कामों को भाजपा सरकार ने न केवल रोक दिया अपितु चल रही जनहित की योजनाओं में भी पलीता लगा दिया है। सच तो यह है कि विपदा के चार वर्षो में भी जश्न मनाने का अवसर भाजपा ने ढूंढ लिया है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

किया कुछ नहीं मगर आसमान सिर पर उठा लिया। भाजपा के पास एक ही पुराना रिकार्ड है जिसे वे रोज-रोज बजाते हैं, जनता के कान इससे पक गए हैं। आंखों में धूल झोंकने का भाजपा अंतिम प्रयास कर रही है और उसके झूठे आंकड़ों के कहर ने पूरे प्रदेश को प्रदूषित कर दिया है। भाजपा ने असत्य वाचन की सभी सीमाएं पार कर दी हैं।

सन् 2022 में समाजवादी सरकार बनते ही भाजपा के झूठ और फर्जी आंकड़ों की जांच होगी और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही होगी। तथाकथित प्रगति और विकास की असत्य कथा के प्रचार प्रसार पर भाजपा सरकार द्वारा जो हजारों करोड़ रूपए अपव्यय किए गए है उनकी जांच समाजवादी सरकार में कराई जाएगी।

भाजपा ने किसानों के साथ बड़ा धोखा किया है। उन्हें फसल का न तो ड्योढ़ा मूल्य मिला और नहीं एमएसपी पर धान बिका। आय दुगनी की बातें अब नहीं की जाती। समाजवादी पार्टी की सरकार के समय मंडिया बन रही थी भाजपा ने उन्हें रोक दिया।

नौजवानों का भविष्य अंधेरे में है। रोटी-रोजगार की कोई व्यवस्था नही। शिक्षा-स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल हैं। कानून व्यवस्था ध्वस्त है। अपराधी जेल में हैं तो अपराध क्यों हो रहे है? जेल से अपराधी गतिविधियों का संचालन कैसे हो रहा है? भाजपा ने समाज में नफरत फैलाकर सामाजिक तनाव पैदा किया है।

प्रदेश में रोजगार के झूठे आंकड़े पेश किए जा रहे हैं। प्रदेश में कई निवेशक सम्मेलनों के बावजूद सरकार बताए कितना निवेश आया? कौन सा नया उद्योग लगा?

किस बैंक में किस उद्यमी को कर्ज मिला? लघु मध्यम उद्योग लगातार बंद हो रहे हैं। स्मार्टसिटी बन रही है तो प्रदूषण क्यों बढ़ता जा रहा है?

भाजपा का यह दावा कितना सतही है कि मां गंगा निर्मल हो गई है। गंगा और गाय के अभिशाप से भी भाजपा को डर नहीं लगता है। यमुना का पानी काला हो गया है। समाजवादी पार्टी की सरकार ने आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे बनाया जिस पर युद्धक विमान उतरे।

भाजपा एक भी एक्सप्रेस-वे नहीं बना पाई पर उनका हल्ला मचा रही है। मेट्रो समाजवादी पार्टी की सरकार में लखनऊ में चली, भाजपा के चार साल में भी वह जहां तक चली थी वहां से एक कदम आगे नहीं बढ़ सकी। राज्य के दूसरे जनपदों की कौन कहे वीवीआईपी जिलों वाराणसी और गोरखपुर तक में भी मेट्रो की पटरी नहीं बिछ सकी।

भाजपा सरकार बताए कि उसने अपने घोषणा पत्र-संकल्पपत्र में जो घोषणाएं की थीं, वादे किए थे वे पूरे क्यों नहीं किए? भाजपा राज में कितने बिजली प्लांट बने? सच्चाई तो यह है कि भाजपा ने एक यूनिट बिजली नहीं उत्पादित की।

डीजल-पेट्रोल के दामों के साथ रसोई गैस के दामों में बेतहाशा वृद्धि कर दी गई जिससे घरेलू अर्थव्यवस्था बिगड़ गई है।

भाजपा सरकार की नोटबंदी-जीएसटी और अनियोजित तरीके से किए गए लॉकडाउन का खामियाजा देश भुगत रहा है। वैश्विक महामारी कोविड-19 में भाजपा ने लोगों के नाक-मुंह बंद कराए पर अब कौन सी महामारी है कि भाजपा सरकार आंख-कान बंद किए हुए है। इसे जनता और किसानों की तकलीफों की परवाह नहीं।

भाजपा अपने आंकड़ों के जाल बट्टे से विकास के चाहे जितने थोथे दावे करे, सच यह है कि उसने प्रदेश को बीमारू प्रदेश बना दिया है। राज्य में गुण्डा और माफिया की समानांतर सरकार चल रही है। उद्योगपतियों से मिलकर भाजपा ने कमाऊ कम्पनियों को भी बेचने का इरादा कर लिया है। जनता ने इस सबसे ऊबकर अब बदलाव का मन बना लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here