नई दिल्ली : राघव चड्ढ़ा ने आज सिंघु बॉर्डर का दौरा किया और खुद खड़े होकर किसानों की सुविधा के लिए 5 फ्री वाईफाई हॉटस्पॉट लगवाए और वाईफाई के सही से काम करने की भी जांच की।

कल ही राघव चड्ढ़ा ने किसानों के लिए केजरीवाल की सिंघु बॉर्डर पर फ्री वाईफाई की सेवा शुरू करने का ऐलान किया था।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

सिंघु बॉर्डर पर वाईफाई हॉटस्पॉट लगाने का फैसला तब लिया गया, जब कई किसानों ने सिंघु बॉर्डर पर कमजोर नेटवर्क और खराब कनेक्टिविटी की शिकायत की थी।

चड्ढ़ा ने कहा, “हमें सिंघु बॉर्डर पर कमजोर नेटवर्क और खराब कनेक्टिविटी की कई शिकायतें मिली थीं, जिसकी वजह से हमारे किसान भाई अपने घर-परिवार से बात नहीं कर पा रहे थे, अपने परिवार और बच्चों को वीडियो कॉल नहीं कर पा रहे थे।

शिकायत मिलने के बाद केजरीवाल ने इस परेशानी को दूर करने का फैसला किया, इसलिए जैसा कि हमने कल वादा किया था, हमने आज फ्री वाईफाई हॉटस्पॉट लगाने का काम शुरू कर दिया है।”

प्रवक्ता ने कहा, “किसान से हमें सिंघु बॉर्डर पर उन जगहों के बारे में जानकारी मिली, जहां नेटवर्क कमजोर है और इस फीडबैक के आधार पर हमने वाईफाई हॉटस्पॉट के लिए जगहों का चुनाव किया है।

कल ही हमने अपने किसान भाइयों से इन जगहों के बारे में जानकारी देने की अपील की थी, जहां इंटरनेट कनेक्टिविटी खराब है। किसान भाई-बहनों की जरूरत के मुताबिक हम वाईफाई हॉटस्पॉट लगा रहे हैं। हमने पहले से ही कहा है कि जितने भी वाईफाई हॉटस्पॉट की जरूरत होगी, हम उतने हॉटस्पॉट लगाएंगे।

अगर टिकरी बॉर्डर से भी ऐसी मांग आती है, तो हम वहां भी वाईफाई हॉटस्पॉट की सुविधा मुहैया कराएंगे। बेहतर इंटरनेट कनेक्टिविटी से हमारे किसान भाई सोशल मीडिया पर बीजेपी नेताओं द्वारा किसानों के खिलाफ फैलाए जा रहे झूठ का पर्दाफाश भी कर पाएंगे और साथ में अपने प्रियजनों से वीडियो कॉल के जरिए बात भी कर पाएंगे।”

राघव चड्ढ़ा ने कहा, “इस आंदोलन के महत्व का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि देश के अलग-अलग हिस्सों से किसान अपने हक की लड़ाई के लिए दिल्ली की तरफ आ रहे हैं।

 यह एक ऐतिहासिक आंदोलन है, आप सब जानते हैं कि हमारे किसान भाई लंबे समय से अपने घर-परिवार से दूर हैं। उनके परिवार के लोगों को उनकी चिंता होती है। उनके दोस्त-शुभचिंतक उनसे बात करना चाहते हैं।

किसान भी अपने माता-पिता, बच्चे और पत्नी को देखना चाहते हैं, उनसे बात करना चाहते हैं। ऐसे में वाईफाई हॉटस्पॉट उन्हें घर से दूर होने पर भी घर के पास होने का एहसास कराएगा।”

चड्ढ़ा ने आगे कहा, “सिंघु बॉर्डर पर कमजोर नेटवर्क की वजह से हमारे किसान भाई अपने परिवार को वीडियो कॉल नहीं कर पा रहे थे।

इसलिए, उनसे मिले फीडबैक के आधार पर और उनकी जरूरत के हिसाब से केजरीवाल ने सिंघु बॉर्डर पर फ्री वाईफाई की सेवा देने का फैसला किया। हमें उम्मीद है कि हमारे इस छोटे से योगदान से हमारे किसान भाई वीडियो कॉल के जरिए अपने प्रियजनों को देख पाएंगे।

एक ऐसा इंसान जो खून-पसीने की मेहनत से आजीविका कमाता है, उसके लिए अपने परिवार से जुड़ा रहना सबसे बड़ा सुख है।”

5 वाईफाई हॉटस्पॉट खुद से लगवाने के बाद चड्ढ़ा ने कहा, “हमें उम्मीद है कि सिंघु बॉर्डर पर मौजूद किसान अब फ्री वाईफाई की सुविधा का पूरा लाभ ले पाएंगे, अपने बूढ़े मां-बाप को देख पाएंगे, अपनी चिंतित पत्नी से बात कर पाएंगे, अपने बच्चों को लोरी सुना पाएंगे या अपने दोस्तों से कुछ चुटकुले शेयर कर पाएंगे।

किसान हमारे अन्नदाता हैं, हमारे देवता हैं, और उनकी सेवा करने की कोई सीमा नहीं हो सकती है। सेवादार अरविंद केजरीवाल जी और आम आदमी पार्टी के हम सभी लोग किसान भाई-बहनों के साथ आखिरी सांस तक खड़े रहेंगे। हम किसान भाइयों के लिए बस वही कर रहे हैं, जो कोई भी अपने परिवार के सदस्यों के लिए करता है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here