नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी की शुरुआत चीन के वुहान शहर से हुई थी, जिसके बाद ये दुनियाभर में फैल गया, अब जब चीन में कोरोना वायरस का असर काफी हद तक कम हो गया है, तो उसकी ओर से दुनियाभर को मेडिकल सामान की सप्लाई की जा रही है, बीते दिनों कई देशों ने शिकायत करते हुए कहा कि चीन का सामान घटिया क्वालिटी का है, अब इसपर चीन का कहना है कि देश उन्हीं कंपनियों से सामान लें जिन्हें सरकार ने मंजूरी दी है,  चीनी विदेश मंत्रालय की ओर से बुधवार को एक बयान में कहा गया है कि अगर देशों को अच्छी क्वालिटी की किट चाहिए, तो वह सिर्फ उन कंपनियों से संपर्क करें जिन्हें सरकार ने मंजूरी दी है, साथ ही चीन ने ये भी दावा किया है कि क्वालिटी में जो भी कमी आने देगा, उससे सख्ती से निपटा जाएगा,

बता दें कि चीन ने करीब तीन महीने की जंग के बाद कोरोना वायरस के खतरनाक असर को कम किया, अब वहां काफी हद तक हालात सामान्य हैं, इसी के साथ उसने दुनियाभर को पर्सनल प्रोटेक्शन किट समेत अन्य मेडिकल सामान देना शुरू किया है, भारत भी उन देशों में है, जो चीन से सामान मंगवा रहा है,  बीते दिनों इटली, स्पेन समेत कई यूरोपीय देशों ने शिकायत की थी कि चीन की ओर से कम क्वालिटी का सामान भेजा जा रहा है, जिसमें पीपीई, वेंटिलेटर जैसी चीज़ें शामिल हैं, इसी के बाद चीनी सरकार ने अपनी कंपनियों पर सख्ती बरतना शुरू किया,

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

आपको बता दें कि भारत की ओर से अभी तक चीन को करीब 15 मिलियन पर्सनल प्रोटेक्शन किट का ऑर्डर दिया जा चुका है, जबकि तीन मिलियन टेस्टिंग किट की भी मांग की गई है, भारत की ओर से ये मांग सरकारी स्तर पर और प्राइवेट स्तर पर की जा रही है, भारत में बीते दिनों में टेस्टिंग की रफ्तार बढ़ी है, यही कारण है कि PPE और टेस्टिंग किट की मांग बढ़ने लगी है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here