नई दिल्ली: तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव ने लॉकडाउन को 7 मई तक बढ़ाने की घोषणा की है, उन्होंने कहा कि इसके लिए सख़्ती रहेगी, कोरोना वायरस के नियंत्रित नहीं होने के कारण राज्य की कैबिनेट ने यह फ़ैसला लिया है, राज्य में अब तक कोरोना वायरस के 858 पॉजिटिव केस आ चुके हैं और 21 लोगों की मौत हो चुकी है, मुख्यमंत्री ने कहा कि अब स्वीगी और जोमैटो को राज्य में काम करने की छूट नहीं मिलेगी,

तेलंगाना के मुख्यमंत्री का यह फ़ैसला ऐसे समय में आया है जब पीएम मोदी ने हाल में लॉकडाउन को देश भर में 3 मई तक बढ़ाया है, हालाँकि तब पीएम ने यह भी कहा था कि 20 अप्रैल के बाद इसमें ढील दी जा सकती है, लेकिन स्थिति सुधरी तभी, कई राज्यों के जिन ज़िलों में कोरोना वायरस के मामले नहीं आए हैं वहाँ थोड़ी ढील दी जा रही है, केरल में तो गाड़ियों के लिए ऑड-ईवन फ़ॉर्मूला अपनाया गया है, लेकिन तेलंगाना ने राज्य में लॉकडाउन को बढ़ाने का फ़ैसला लिया,

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

लॉकडाउन के बढ़ाने के फ़ैसले के साथ ही चंद्रशेखर राव ने कहा, ‘सरकार उन आप्रवासी मज़दूरों को राशन और 1500 रुपये देगी जिनका परिवार तेलंगाना में रहता है और अकेले रहने वाले ऐसे मज़दूरों को सरकार राशन देगी,’ इसके साथ ही राज्य की कैबिनेट ने पुलिस कर्मियों की तनख्वाह 10 फ़ीसदी बढ़ाने की मंजूरी दी है, चंद्रशेखर राव ने यह भी साफ़ किया कि केंद्र सरकार ने गाइडलाइन जारी कर लॉकडाउन में ढील देने की जो बात की थी वह तेलंगाना में ढील नहीं दी जाएगी

बता दें कि गाइडलाइन में कहा गया है कि 20 अप्रैल के बाद कृषि, आईटी, ई-कॉमर्स जैसी गतिविधियों और सामान ढोने के लिए अंतरराज्यीय परिवहन को अनुमति दी जाएगी, इसके अलावा मनरेगा से जुड़े कार्य भी शुरू होंगे, हालाँकि यह छूट तभी मिलेगी जब वह संबंधित क्षेत्र कोरोना वायरस का हॉटस्पॉट नहीं होगा, यह गाइडलाइन तब आई थी जब प्रधानमंत्री मोदी ने एक दिन पहले ही मंगलवार को लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ाने की घोषणा की थी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here