Urdu

Epaper Urdu

YouTube

Facebook

Twitter

Mobile App

Home भारत दिल्ली: हरेवली में दबंगों ने 12 मुस्लिम परिवारों को जबरन धर्म परिवर्तन...

दिल्ली: हरेवली में दबंगों ने 12 मुस्लिम परिवारों को जबरन धर्म परिवर्तन करवाया

नई दिल्ली: दिल्ली के बवाना इलाके के हरेवली गाँव में 12 मुस्लिम परिवारों को जबरन धर्म परिवर्तन करवाने का मामला सामने आया है, आरोप है कि 5 मई को बवाना इलाके के हरेवली गाँव के 12 मुस्लिम परिवारों के लगभग 60 लोगों को गाँव के कुछ जाट दबंगों द्वारा हिंदू धर्म अपनाने के लिए बाध्य किया गया, गाँव का एक मुस्लिम युवक दिलशाद, तब्लीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होने भोपाल गया था, वहां से लौटने के बाद गाँव के हिंदू जाट समुदाय के युवकों ने दिलशाद पर कोरोना फ़ैलाने का आरोप लगाकर बेरहमी से पीटा और उसपर दोबारा तबलीगी जमात में नहीं जाने के दबाव बनाया,

दा हिंद के चीफ एडिटर अब्दुल माजिद निजामी से बात करते हुए दिलशाद ने कहा जब गाँव के जाट लोग मुझे मार रहे थे तो मुझ से मुस्लिम धर्म छोड़ने को कह रहे थे, वो मुझे मारते हुए धमकी भी दे रहे थे कि अगर गाँव में रहना है तो हिन्दू धर्म अपनाना पड़ेगा, इस घटना के बाद आरोपी 5 मई को गाँव के 12 मुस्लिम परिवारों को जबरन मंदिर ले गए और उन्हें हिन्दू धर्म अपनाने के लिए दबाव बनाया, पीड़ित गुलाब कहते हैं कि हम लोगों को मंदिर में ले जाकर गंगा जल छिड़का गया और कहा गया कि अब तुम हिन्दू हो गए हो और हिन्दू बनकर ही रहोगे

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

हरेवली गाँव के कुछ लोगों ने बताया कि दबंगों ने वाट्सएप्प पर इसकी प्लानिंग की और गाँव के लोगों को मंदिर में जमा होने की अपील भी की जिसके बाद मंदिर के बाहर भारी भीड़ जमा हो गई, दबंगों ने फिर मुस्लिम परिवारों के लोगों को मंदिर बुलाया और जबरन धर्म परिवर्तन कराया, पीड़ित दिलशाद के पडोसी बलबीर, जिनपर हिन्दू धर्म अपनाने का दबाव बनाया गया, दबंगों ने जबरन मंदिर ले जाकर गौ मूत्र पिलाया और कहा कि आज से कोई भी मस्जिद नहीं जाएगा और मुर्दों को कब्रिस्तान में नहीं दफ्नाएगा, सभी को हिन्दुओं की तरह मुर्दे को शमशान ले जाकर जलाना है,

दिलशाद को मारने पीटने का वीडियो भी बनाया गया था और बाद में उसे सोशल मीडिया पर वायरल किया गया, आरोपी युवक अब दिलशाद पर पुलिस कम्प्लेन न करने का दबाव बना रहा है, नरेला के मोहम्मद अकरम जो एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं और इस मामले को करीब से देख रहे हैं, इस गाँव में 12 मुस्लिम परिवार हैं जो पढ़े लिखे नहीं हैं, गाँव में कोई मस्जिद भी नहीं है इसलिए लोगों की इस्लामी तालीम नहीं हो सकी है, आज़ादी के बाद यहाँ जो मुसलमान रह गए थे वो अपना नाम हिन्दू जैसा ही रखने लगे,

अकरम ने कहा कि हालाँकि वो सभी मुसलमान ही हैं मगर उनके नाम हिन्दू नामों जैसे हैं, अब जब नई पीढ़ी इस्लाम समझ रही है और अपने नाम भी मुसलमानों जैसा रखने लगे हैं तो गाँव के कुछ दबंग जाटों को ये बात नागवार गुज़र रही, इसीलिए तबलीगी जमात के बहाने गाँव के 12 मुस्लिम परिवारों का जबरन धर्मांतरण करा रहे हैं, पिछले कुछ महीनों में हरियाणा के कई गांवों में मुसलमानों को हिंदू धर्म अपनाने के लिए मजबूर किए जाने का मामला सामने आया है, एक ग्रामीण ने बताया कि उन्होंने हिंदू जाटों द्वारा अत्याचार के डर से शुद्धिकरण का विरोध नहीं किया, उन्होंने कहा, मंदिर में सैकड़ों लोग जुटे और 12 मुस्लिम परिवारों में से प्रत्येक परिवार के बड़े सदस्यों को बुलाया गया और फिर उन्हें मंदिर चलने का दबाव बनाया गया, हम उनके डर से मंदिर तो चले गए लेकिन अपना धर्म नहीं छोड़ेंगे, हम मुसलमान थे और मुसलमान ही रहेंगे,

सामजिक कार्यकर्ता मोहम्मद अकरम ने बताया इस गाँव के सभी मुस्लिम परिवार रमज़ान में रोज़े रख रहे हैं, जितना इस्लाम को जानते हैं उसपर चलने की कोशिश कर रहे हैं, इस समय दबंगों से खुद को बचाना भी इनके लिए प्राथमिकता है, लॉकडाउन ख़त्म होने के बाद हम इस सम्बन्ध में शिकायत करेंगे, मीडिया के प्रोपगंडे और दक्षिणपंथी ताकतों के द्वारा फैलाई गई नफरत का असर दूर दराज़ के गांवों में भी पहुँच चुका है, कोरोना के प्रकोप के कारण तबलीगी जमात को कटघरे में खड़ा किया गया और मीडिया द्वारा ज़हर घोले जाने के बाद देश के अलग-अलग हिस्सों से मुसलमानों पर हमले की ख़बरें आने लगीं,

कई शहरों में मुस्लिम सब्ज़ी वालों से, मुस्लिम फल बेचने वालों से और मुस्लिम पहचान वालों से अमानवीय बर्ताव किया गया और उनका आर्थिक बहिष्कार भी किया गया है, हालाँकि आर्थिक बहिष्कार से अब जबरन धर्मांतरण तक का मामला सामने आरहा है जो देश के क़ानून व्यवस्था पर बड़ा सवाल खड़ा कर रहा है

1 COMMENT

  1. Bhaiyon hoosh men aajao pls sirf insaan bano sirf insaan aur apni aukat men aajao nahi to uparwala barbad kare ga inshallah jald se jald zaroor hoga inshallah

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

डाॅ. जोगिंदर के परिजनों को एक करोड़ रुपये की सहायता राशि दी, भविष्य में भी परिवार की हर संभव मदद करेंगे : CM केजरीवाल

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज डाॅ. बाबा साहब अंबेडकर मेडिकल हाॅस्पिटल एंड काॅलेज में एड-हाॅक पर जूनियर रेजिडेंट रहे कोरोना...

गुजरात : पत्रकार कलीम सिद्दीकी को तड़ीपार का नोटिस, देश भर में हो रही है आलोचना, बोले कलीम- ‘नोटिस कानून व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह’

ऩई दिल्ली/अहमदाबाद : 30 जुलाई को पत्रकार कलीम सिद्दीकी अहमदाबाद शहर के एसीपी कार्यालय में उपास्थि हो कर तड़ीपार मामले में अपना...

बिहार: तेज प्रताप यादव ने किया बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा, बोले- ‘CM का सारा सिस्टम हो गया फेल, बिहार की जनता बेहाल’

नई दिल्ली/बिहार: बिहार इस समय दो-दो आपदाओं की मार झेल रहा है, कोरोना के साथ ही बाढ़ से त्राहिमाम मचा हुआ है,...

भोपाल : बोले दिग्विजय सिंह- “राम मंदिर का शिलान्यास कर चुके हैं राजीव गांधी”

नई दिल्ली/भोपाल : राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यस के मुहूर्त को लेकर सवाल उठाए हैं, उन्होंने 5...

सहसवान : नगर अध्यक्ष शुएब नक़वी आग़ा ने मनाया रक्षा बंधन पर्व, पेश की गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल

सहसवान/बदायूँ (यूपी) : रक्षाबंधन पर्व की यही विशेषता है कि यह धर्म-मज़हब की बंदिशों से परे गंगा-जमुनी तहज़ीब की नुमाइंदगी करता है,...