नई दिल्ली: दिल्ली सरकार ने कोविड-19 से ग्रसित लोगों के लिए आईएलबीएस अस्पताल के बाद अब एलएनजेपी अस्पताल में भी प्लाज्मा बैंक शुरू कर दिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को प्लाज्मा बैंक का शुभारंभ किया। इस दौरान उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सभी के सहयोग की वजह से दिल्ली में कोरोना की स्थिति धीरे-धीरे सुधर रही है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने भी दिल्ली के माॅडल की तारीफ की है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि भले ही अस्पतालों में कुछ दिनों तक बेड खाली रह जाएं, फिर भी हमारी तैयारी जारी रहेगी। यदि केस बढ़ता है, तो हम उसके लिए तैयार हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘हमारे पहले प्लाज्मा बैंक की भारी सफलता के बाद आज हमने एलएनजेपी अस्पताल में दिल्ली का दूसरा प्लाज्मा बैंक शुरू किया है।’

मौतें कम करने में प्लाज्मा की अहम भूमिका रही- अरविंद केजरीवाल

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

एलएनजेपी अस्पताल पहुंचे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मीडिया से कहा कि आज एलएनजेपी अस्पताल में डाॅक्टर सुरेश और उनकी पूरी टीम ने दिल्ली का दूसरा प्लाज्मा बैंक शुरू किया है। दिल्ली देश का पहला राज्य था, जहां आईएलबीएस अस्पताल में पहला प्लाज्मा बैंक शुरू किया गया था। अब कुछ दिन के अंदर ही यह दूसरा प्लाज्मा बैंक शुरू हुआ है। जब तक बैक्सीन नहीं आ जाती है, तब लोगों की जान बचाने में प्लाज्मा मददगार साबित हो सकता है। हम ऐसा नहीं कह रहे हैं कि 100 प्रतिशत लोगों की जान बच सकती है, फिर भी काफी लोगों की जान बचाने में मददगार साबित हो सकता है। दिल्ली के अंदर मौत की संख्या कम करने में प्लाज्मा की भी एक अहम भूमिका रही है। एलएनजेपी अस्पताल दिल्ली के मध्य में स्थित है। इसलिए लोगों को यहां आकर प्लाज्मा दान करने में काफी सहूलियत मिलेगी। 

कोरोना का कुछ पता नहीं, अभी ऐहतियात बरतना जरूरी – अरविंद केजरीवाल 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पिछले एक महीने में दिल्ली के लोगों, डाॅक्टर, नर्सें, पैरामेडिकल स्टाफ, दिल्ली व केंद्र सरकार, धार्मिक और स्वयं सेवी संस्थाओं ने मिल कर बहुत शानदार काम किया है। जिसकी वजह से दिल्ली में कोरोना की स्थिति धीरे-धीरे सुधर रही है। मरीजों के ठीक होने की दर बहुत तेजी से बढ़ रही है। पहले 100 टेस्ट करते थे, तो उनमें से 35 लोग पाॅजिटिव आते थे और अब हम 100 टेस्ट कर रहे हैं, तो 7 या 8 लोग पाॅजिटिव मिलते हैं। दिल्ली में मौतें भी बहुत कम हुई हैं। जून के मध्य में प्रतिदिन लगभग 101 मौतें हो रही थीं। अब लगभग करीब 40 मौत हो रही हैं और उसे भी हम सभी को मिल कर कम करना है। दिल्ली में केस दोगुना होने की दर लगातार बढ़ती जा रही है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली वासियों से अपील करते हुए कहा कि हमें अभी यह नहीं मान कर बैठ जाना है कि सब कुछ ठीक हो गया। कोरोना का कुछ भी पता नहीं है, कल को फिर बढ़ सकता है। इसलिए हमें ऐहतियात बरतना बहुत जरूरी है। हमें हमेशा मास्क पहनना है। इसमें कोई कोताही नहीं बरतनी है। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना है और सभी को अपने हाथ बार-बार धोना व सैनिटाइज करना है। कोरोना से बचने का यह तीन मंत्री है। 

दिल्ली में कोरोना को कम करने में सभी का सहयोग रहा – अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना को लेकर जो व्यवस्था रही, इसकी पूरी नींव सबके सहयोग की थी। हम लोगों ने यह जान लिया था कि इतनी बड़ी महामारी है, जिससे अकेले नहीं लड़ा जा सकता है। अगर कोई व्यक्ति विशेष या कोई सरकार यह कहे या सोचे कि हम अकेले कोरोना से पार पा लेंगे, तो वह गलत है। हमने एक काम किया कि सबको साथ लेकर चले। हम केंद्र सरकार और समाज सेवी संस्थाओं के पास भी गए। दिल्ली में सेवानिवृत्त डाॅक्टरों की कई एनजीओ हैं, जो मदद कर रही हैं। हम सब लोगों के पास गए और सभी लोगों से मदद मांगी। दिल्ली में आज जो कोरोना कम होता दिख रहा है, उसमें सभी का श्रेय है। इसके बाद हमने जांच की संख्या बहुत ज्यादा बढ़ा दी। दिल्ली में इतनी संख्या में जांच इसलिए हो पा रही है, क्योंकि होम आइसोलेशन की व्यवस्था भी है। 

दिल्ली में होम आइसोलेशन की सुविधा होने से लोग खूब जांच करा करा रहे – अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं कुछ राज्यों में देख रहा हूं, जहां होम आइसोलेशन नहीं है। यदि वहां पर आज कोई कोरोना पाॅजिटिव पाया गया, उसमें कोरोना का कोई लक्षण भी नहीं है या हल्का लक्षण है, तो उसे उठा कर क्वारंटीन सेंटर में डाल दिया जाएगा। इसलिए लोग डरते हैं कि यदि वह जांच कराता है, तो उसे उठा कर क्वारंटीन सेंटर में डाल दिया जाएगा। दिल्ली में हमने होम आइसोलेशन का शानदार प्रोग्राम किया है। लोगों को घर में आॅक्सी मीटर पहुंचा दिया जाता है। उनकी प्रतिदिन टेली काउंसलिंग होती है। इस वजह से पिछले 12 दिनों में होम आइसोलेशन में एक भी मौत नहीं हुई है। अब लोगों को जांच कराने में डर नहीं लगा रहा है। लोग खूब जमकर जांच करा रहे हैं। प्रतिदिन 20 से 22 हजार जांच हो रही है। इसके अलावा भी कई और कदम उठाए गए हैं। जिसकी वजह से आज दिल्ली में कोरोना की संख्या कम हो रही है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मुझे खुशी है कि प्रधानमंत्री जी ने भी दिल्ली के माॅडल की तारीफ की है और उसमें सभी का सहयोग है। 

प्लाज्मा बैंक से सभी को मिल रहा प्लाज्मा- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अभी तक आईएलबीएस में 200 से अधिक लोग प्लाज्मा ले चुके हैं। हमें प्लाज्मा बैंक में स्टोर करके नहीं रखना है, लेकिन किसी को प्लाज्मा की कमी भी नहीं होनी चाहिए। इसकी व्यवस्था ऐसी होनी चाहिए कि जो लेने आए, उसे आसानी से मिल सके। अभी तक जितने लोग भी प्लाज्मा के लिए आ रहे हैं, उन्हें मिल रहा है और किसी को कमी नहीं हो रही है। सबको प्लाज्मा मिल रहा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि कुछ दिनों तक बेड भले ही खाली रह जाएं, लेकिन यदि केस में उछाल आए, तो ऐसा नहीं होना चाहिए कि हमारी तैयारी अधूरी पड़ गई। अभी बेड खाली दिख रहे हैं। अभी चाहे बेड खाली रह जाएं, इसके बाद भी हम कुछ दिन और अपनी तैयारी जारी रखेंगे। क्योंकि यदि कल को केस में उछाल आता है, तो इसके लिए हम तैयार रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here