नई दिल्ली: कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाला हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को  ब्राह्मण समाज के लोगों ने विकास दुबे को ब्राह्मण शेर कहना शुरू कर दिया, ऐसे लोगों को करारा जवाब दिया है बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने, हालांकि गुप्तेश्वर पांडेयसोशल मीडिया पर कई लोग ऐसे भी हैं, जिन्होंने विकास दुबे को ब्राह्मण शेर बताने वालों को जोरदार फटकार लविकास दुबे को ब्राह्मण शेर बताने पर DJP गुप्तेश्वर पांडेय भड़के, कहा- ‘अपराधियों को हीरो न बनाएं लोग’गाई है, ऐसे लोगों ने कहा है कि विकास दुबे की गोली से शहीद हुए सीओ, बिल्हौर भी तो ब्राह्मण थे,

डीजीपी ने कहा ‘कितने शर्म और अफ़सोस की बात है कि ऐसे पेशेवर हत्यारे का महिमामंडन किया जा रहा है, अपनी-अपनी जाति के अपराधियों को लोग हीरो बना रहे हैं, अगर लोग इस तरह करेंगे तो अपराध की संस्कृति तो फूलेगी-फलेगी ही,’  पांडेय ने आगे कहा ‘शेर है यह, नपुंसक भी किसी को गोली मार सकता है, वह अपराधी शेर हो गया, वो आए बिहार में, उसे बताया जाएगा कि शेर क्या होता है, शेर वो होता है जो वतन के लिए शहीद होता है,’ वह कहते हैं कि अपराधी किसी जाति का हो, किसी मज़हब का हो, किसी दल का हो, वह सिर्फ़ अपराधी होता है, 

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

पांडेय ने कहा कि अपराध की संस्कृति के ख़िलाफ़ जनता को भी लड़ना होगा क्योंकि अपराध की संस्कृति को केवल पुलिस ख़त्म नहीं कर सकती है, यूपी पुलिस ने विकास दुबे को ब्राह्मण शेर बताने वाले लोगों के ख़िलाफ़ कार्रवाई शुरू कर दी है, कानपुर में कोचिंग संस्थान चलाने वाले एक शख़्स सहित रीता पांडेय नाम की महिला के ख़िलाफ़ भी पुलिस ने एफ़आईआर दर्ज की है, पुलिस लगातार ऐसे लोगों पर नजर रख रही है,

लेकिन क्या ऐसे लोगों को ख़ुद पर शर्म नहीं आती कि वे एक कुख़्यात बदमाश को अपनी जाति से जोड़कर उसका महिमामंडन कर रहे हैं, और ऐसा सिर्फ़ ब्राह्मण जाति में हुआ हो, ऐसा नहीं है, आप सोशल मीडिया देखिए, अपनी जाति या अपने मज़हब से आने वाले बदमाशों को कुछ लोग किस तरह फ़ॉलो करते हैं, उन्हें हीरो का दर्जा देते हैं, ऐसे लोग ख़ुद तो मानसिक रूप से भ्रष्ट हैं ही, छोटे बच्चों और समाज के युवा वर्ग को भी जरायम की दुनिया में धकेलने का काम कर रहे हैं,

सीनियर पुलिस अफ़सर की बात सुनने के बाद तो कम से कम ऐसे लोगों की बुद्धि पर पड़ा पत्थर हट जाना चाहिए, उन्हें समझ आना चाहिए कि ऐसे दुर्दांत अपराधी को अपना हीरो बनाकर वह पूरे समाज के साथ ही देश का भी बहुत बड़ा नुक़सान कर रहे हैं 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here