नई दिल्ली : 14 अक्टूबर से ट्विटर पर कश्मीरी लड़की नूर का एक ट्विट वायरल हो रहा है, नूर ने ट्विट करते हुए आरोप लगाया है कि उसकी मकान मालकिन एक आदमी जो उसके लिए अंजान था के साथ उसके कमरे में घुस आईं, अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया, फर्नीचर तोड़ दिया गया, उसे आतंकवादी बोला, सिर्फ इसलिए कि वो कश्मीर की रहने वाली है, वो भी दिल्ली पुलिस के सामने, वहीं यह मामला सोशल मीडिया में तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने कश्मीरी लड़कियों की तरफ से एफआईआर दर्ज कर ली है.

कश्मीर की रहने वाली दो बहनें ईस्ट ऑफ कैलाश के E ब्लॉक में किराएदार हैं, एक युवती नूर ने आरोप लगाया है कि मकान मालकिन ने लॉक तोड़कर सामान बाहर फेंक दिया, साथ ही कपड़े और 20 हज़ार रुपये की चोरी कर ली, बाहरी आदमी को बुलाकर हमारा सामान फिंकवा दिया, गाली-गलौज की गई, पुलिस की मौजूदगी में आतंकवादी बोला गया, हमने पुलिस में शिकायत दी है, मामला दर्ज हो गया है, जिस बिल्डिंग में कश्मीरी युवतियां रहती हैं उसकी मकान मालकिन तरुणा सुखीजा हैं, तरुणा का आरोप है कि किराएदार ने ट्वीट करके जो आरोप लगाए हैं वो बेबुनियाद हैं, अगर हमे ऐसा कहना होता तो शुरू में ही किराए के लिए घर नही देते, किराएदार लड़कियों को कुछ भी ऐसा नही कहा है जैसा वो आरोप लगा रही हैं, दोनो युवतियां जम्मू कश्मीर के किसी बड़े नेता की बेटियां हैं जो सोशल मीडिया में गलत बयानबाजी कर रही हैं, वो पहले भी कई बार अमर कॉलोनी थाने में शिकायत दे चुकी हैं.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

इस मामले में डीसीपी ईस्ट आरपी मीणा का कहना है कि 14 अक्टूबर को 8,40 बजे घर का दरवाजा तोड़कर चोरी की एक पीसीआर कॉल अमर कॉलोनी थाने में मिली थी, इस घर में कश्मीर की रहने वाली 2 बहनें किराए पर रहती हैं, मकान मालकिन तरुणा मखीजा ने कॉल की थी, इससे पहले भी कई बार बिजली का बिल और किराया नही देने का आरोप लगाया था, लेकिन लड़की नूर का आरोप है कि उसके कमरे का ताला तोड़कर कपड़े और 20 हज़ार रुपये चुरा लिए गए हैं.

ब्यूरो रिपोर्ट, दिल्ली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here