नई दिल्ली : विधायक आतिशी ने कहा कि भाजपा की दिल्ली पुलिस के राज में न महिलाएं सुरक्षित हैं न स्कूली बच्चे। स्कूल से छुट्टी के बाद घर आ रही छात्रा से छेड़छाड़ की जाती है। जब उसका भाई विरोध करता है तो उसे चाकू मार दिया जाता है।

पीड़ित परिवार को हर प्रकार की मदद आम आदमी पार्टी और सरकार की तरफ से मिलेगी। हम बच्चे से आईसीयू में मिलकर आए हैं। क्या दिल्ली पुलिस का एक ही काम है कि भाजपा के नेताओं को सुरक्षा देनी है?

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

कालकाजी क्षेत्र में स्कूल से घर लौट रही छात्रा से छेड़छाड़ की गई। जब उसके भाई ने विरोध किया तो उस पर चाकूओं से हमला कर दिया गया। आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता और कालकाजी विधायक आतिशी आज पीड़ित परिवार से मिलने पहुंची।

आतिशी ने कहा कि आखिरकार पूरे शहर में लॉयन ऑर्डर की व्यवस्था क्यों चरमरा रही है? क्यों अपराधियों को लगता है कि हम चक्कू चला सकते हैं और किसी को मार सकते हैं। हम पर कोई भी कार्यवाही नहीं होगी।

क्यों एक लड़की जो स्कूल से वापस आ रही है वह सुरक्षित नहीं है? क्यों जब उसका भाई बचाने जाता है तो उस पर चाकू चला दिया जाता है?

मीडिया के सवालों पर कहा कि हमने परिवार को आश्वासन दिया है कि उन्हें हर प्रकार की मदद हमारी पार्टी और सरकार की तरफ से मिलेगी। हमने डॉक्टरों से भी बात की है और हम आईसीयू में मिलकर भी आए हैं।

डॉक्टरों का कहना है कि बच्चा पहले से बेहतर है और खतरे से बाहर है लेकिन अभी भी उसे कई दिन अस्पताल में रहना पड़ेगा। इसमें सबसे जरूरी चीज निकल कर आ रही है कि दिल्ली में कोई भी सुरक्षित नहीं है। स्कूल जाने वाला बच्चा सुरक्षित नहीं है, कोई महिला सुरक्षित नहीं है। भाजपा के अधीन जो दिल्ली पुलिस आती है उसकी क्या जिम्मेदारी है? क्या दिल्ली पुलिस का एक ही काम है कि भाजपा के नेताओं को सुरक्षा देनी है?

एक घटना कल सामने आयी थी। खिचड़ीपुर में एक 9 साल की बेटी कुछ दिन पहले गायब हो जाती है और कल उसकी लाश मिलती है। उसके बाद कालकाजी में यह घटना घट जाती है।

आखिरकार दिल्ली पुलिस के पास क्या भाजपा के नेताओं, वीआईपी को सुरक्षा देने के सिवा कोई काम नहीं है। दिल्ली की जनता को सुरक्षित कौन रखेगा, किसकी जिम्मेदारी है?

थाने से 10 कदम दूर इस प्रकार की घटना होती है। पुलिस को शर्म आनी चाहिए। भाजपा को शर्म आनी चाहिए जो इस पुलिस को चलाती है। हम इस शहर में किसी को भी सुरक्षित नहीं रख पा रहे हैं।

क्या अब हमारे बच्चे स्कूल भी नहीं जा पाएंगे? यह दो बच्चे कक्षा खत्म होने के बाद स्कूल से वापस आ रहे थे तब बीच सड़क पर यह घटना होती है। वह लड़की जो स्कूल जाती है क्या वह बिना कोई बदतमीजी हुए स्कूल से वापस नहीं आ सकती है।

जब उसका भाई बदतमीजी करने से रोक रहा था तो उसे चाकू मार दिया जाता है। अब वो अपने जीवन के लिए संघर्ष कर रहा है। इसके लिए कौन जिम्मेदार है?

आतिशी ने कहा कि उनकी डीसीपी से बात हुई है। उनसे जल्द मिलने भी जाऊंगी। आरोपियों पर सख्त से सख्त-सख्त तुरंत कार्रवाई ही इकलौता रास्ता है। जिसने भी ऐसा कार्य किया है, उन पर सख्त से सख्त कार्रवाई जरूरी है।

सीसीटीवी फुटेज भी उपलब्ध है। पूरे क्षेत्र और दिल्ली में एक संदेश जाना जरूरी है कि इस तरह के काम को जो चाहे महिलाओं के खिलाफ हो या बच्चों के खिलाफ हो, उसको बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और तुरंत कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here