पटना (यूपी) : तेजस्वी यादव ने कोविड-19 जांच के नाम पर फर्जीवाड़ा का आरोप लगाते हुए सीएम नीतीश को घेरा, तेजस्वी ने आरोप लगाया गया है कि बिहार में फर्जी कोविड-19 टेस्ट दिखाकर नेता और अधिकारियों ने अरबों रुपये का घोटाला किया है.

तेजस्वी ने अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया बिहार की आत्माविहीन भ्रष्ट नीतीश कुमार सरकार के बस में होता तो कोविड-19 काल में गरीबों की लाशें बेच-बेचकर भी कमाई कर लेती.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

तेजस्वी ने कहा कि एक अखबार की जांच में यह साफ हो गया है कि सरकारी दावों के उलट कोविड-19 रोना टेस्ट हुए ही नहीं और मनगढ़ंत टेस्टिंग दिखा अरबों का हेर-फेर कर दिया.

तेजस्वी ने एक अन्य ट्वीट में आगे लिखा हमारे द्वारा जमीनी सच्चाई से अवगत कराने के बावजूद सीएम और स्वास्थ्य मंत्री बड़े अहंकार से दावे करते थे कि बिहार में सही टेस्ट हो रहे हैं.

टेस्टिंग के झूठे दावों के पीछे का असली खेल अब सामने आया है कि फर्जी टेस्ट दिखाकर नेताओं और अधिकारियों ने अरबों रुपयों का बंदरबांट किया है.

तेजस्वी लगातार नीतीश की सरकार पर घोटाले का आरोप लगाते रहे हैं, तेजस्वी ने सार्वजनिक तौर पर कई बार नीतीश कुमार को ‘भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह’ बता चुके हैं.

गौरतलब है कि कोविड-19 टेस्ट को लेकर विपक्ष लगातार सरकार पर सवाल खड़ा करते रही है, हालांकि सरकार ने कोविड-19 जांच की गति बढ़ाने का दावा करती रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here