नई दिल्ली : पुडुचेरी में कांग्रेस को 22 फरवरी को विधानसभा में फ्लोर टेस्ट कराना होगा, इस संबंध में उपराज्यपाल तमिलिसाई सौंदर्यराजन ने आदेश जारी किए हैं.

विपक्षी दलों का दावा है कि कांग्रेस सरकार ने एक विधायक के इस्तीफे के बाद बहुमत खो दिया है, ऐसे में अब फ्लोर टेस्ट के बाद ही पता चलेगा कि सरकार के पास बहुमत है या नहीं.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

जॉन कुमार ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था और पिछले महीने से अब तक वह चौथे विधायक हैं जिन्होंने त्यागपत्र दिया है, इसके बाद प्रदेश के 33 सदस्यीय सदन में सत्तारूढ़ कांग्रेस और द्रमुक गठबंधन के सीटों की संख्या कम होकर 14 हो गयी है.

विपक्षी दलों ने इस संबध में उप राज्यपाल कार्यालय से शिकायत की थी और फ्लोर टेस्ट की मांग की थी, अब उपराज्यपाल ने मुख्यमंत्री वी नारायणसामी को 22 फरवरी को शाम पांच तक अपना बहुमत साबित करने को कहा है.

बता दें कि आज ही सुंदरराजन ने उपराज्यपाल पद की शपथ ली है, सौंदर्यराजन को पुडुचेरी का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है, सौंदर्यराजन ने किरण बेदी की जगह ली है, बेदी को 16 फरवरी को उपराज्यपाल की पद से हटा दिया गया था.

उपराज्यपाल के आदेश के बाद पुडुचेरी के बीजेपी अध्यक्ष वी सामीनाथन ने कहा कि मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने बहुमत खो दिया है, उनका दावा झूठा है.

22 फरवरी को उनकी सरकार गिर जाएगी, विपक्ष के सभी 14 विधायक एकजुट हैं, उपराज्यपाल के फैसले से पहले वी नारायणसामी ने कहा था कि मैंने मिलकर फ्लोर टेस्ट समेत कई मुद्दों पर बात की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here